Loading...    
   


कोरोना फाइटर वंदना तिवारी की दर्दनाक मौत, DM से लेकर CM तक किसी ने मदद नहीं की | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में स्थित मेडिकल कॉलेज में फार्मासिस्ट वंदना तिवारी की ग्वालियर में दर्दनाक मौत हो गई। नॉन स्टॉप कोरोना ड्यूटी के चलते उन्हें ब्रेन हेमरेज हुआ था। शर्मनाक यह है कि जयारोग्य चिकित्सालय में डॉक्टरों ने उनका इलाज ही नहीं किया था। 24 घंटे तक लावारिस पड़े रहने के बाद उनके पति उन्हें एक प्राइवेट अस्पताल में ले गए थे। मेडिकल कॉलेज, शिवपुरी कलेक्टर, ग्वालियर कमिश्नर से लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक किसी ने वंदना की मदद नहीं की।

ब्रेन हेमरेज के बावजूद ग्वालियर में डॉक्टर देखने तक नहीं आए

जानकारी के अनुसार शिवपुरी मेडिकल कॉलेज में फार्मासिस्ट पद पर पदस्थ वंदना तिवारी को कोरोना संक्रमण के खिलाफ काम करने वाली टीम में तैनात किया गया था। बताया गया है कि 31 मार्च को ऑन ड्यूटी अचानक तबीयत खराब हो गई। जिला चिकित्सालय लाया गया। जहां डॉक्टरो ने वंदना तिवारी को ग्वालियर के जयरोग्य चिकित्सालय में रैफर कर दिया। वहां 24 घंटे तक एक भी डॉक्टर उन्हे देखने तक के लिए नहीं आया। प्राथमिक उपचार तक शुरू नहीं किया गया। डॉ वंदना तिवारी लावारिस पड़ी रही, तड़पती रही।

बिरला हॉस्पिटल में 1 अप्रैल को पता चला ब्रेन हेमरेज हुआ था

वंदना के परिजनों ने जयरोग्य के अस्पताल प्रबंधन का यह रवैया देखा तो वंदना शर्मा को ग्वालियर के बिरला हॉस्पिटल में 1 अप्रैल को भर्ती कराया गया। वहां डॉक्टर अभिषेक चौहान ने इलाज शुरू किया एमआरआई कराने के बाद बताया कि वंदना को ब्रेन हेमरेज हुआ है। तत्काल आपरेशन करना होगा। बिरला हॉस्पिटल के डॉक्टरो ने वंदना के ब्रेन का आपरेशन किया गया, लेकिन वह कोमा में चली गई थी। 

डीन, कलेक्टर, कमिश्नर कोई मदद नहीं कर रहा

वंदना के पति ने बताया कि आन ड्यूटी उसकी तबीयत खराब हुई थी। डॉ वंदना के विभाग ने उनकी कोई मदद नहीं की। शिवपुरी कलेक्टर ने हाल चाल सब नहीं जाना। शिवपुरी मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. इला गुजरिया सिर्फ मदद करने का आश्वासन देती रही लेकिन कोई मदद नहीं की। ग्वालियर में डॉक्टरों ने इलाज नहीं किया। ग्वालियर कलेक्टर और ग्वालियर कमिश्नर ने कोई मदद नहीं की। इस मामले को भोपाल समाचार ने भी उठाया था। कथित संवेदनशील मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस पर ध्यान नहीं दिया। अंततः वंदना तिवारी ने दम तोड़ दिया।

07 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें

भोपाल में तीन थानेदारों सहित 271 पुलिस वालों की घर वापसी पर प्रतिबंध
इंदौर में बाहर निकलने वाले गिरफ्तार होंगे, वैष्णव यूनिवर्सिटी अस्थाई जेल घोषित
इंदौर के कब्रिस्तानाें में आ रहे जनाजों की संख्या 488% का इजाफा
भोपाल 12 नये कोरोना पॉजिटिव, 5 स्वास्थ्य विभाग, 7 पुलिस विभाग, टोटल 74
ट्रंप की धमकी से भारत में गुस्सा, पीएम मोदी पर कड़ी प्रतिक्रिया का दवाब
कोर्ट में गीता पर हाथ रखकर कसम क्यों खिलाते थे, रामायण पर क्यों नहीं है
पति की मौत के बाद देवर दुष्कर्म करने लगा, गर्भवती हुई तो घर से भगा दिया
ग्वालियर में गुर्जरों ने तहसीलदार पर पथराव किया, गनर ने हवाई फायर करके जान बचाई
मध्यप्रदेश में लॉक डाउन कहां बढ़ेगा, कहां नहीं: मुख्यमंत्री की बैठक में मिले संकेत
प्रमुख सचिव पल्लवी जैन गोविल को बचाने की हर संभव कोशिश
किसानों के लिए गुड न्यूज़: मध्यप्रदेश में गेहूं खरीदी की तारीख तय
मध्य प्रदेश के 12 जिले इन्फेक्टेड, पढ़िए कहां क्या हाल: हेल्थ बुलेटिन
इंदौर का जांबाज कोरोना वॉरियर आरक्षक अबरार खान शहीद
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के घर लगी फुल बॉडी सैनिटाइजेशन मशीन
अस्पताल से लौटे अभिषेक ने बताया: डॉक्टरों ने कोरोना संक्रमण का इलाज कैसे किया
महिला कोरोना फाइटर को ब्रेन हेमरेज, 24 घंटे तक डॉक्टरों ने देखा भी नहीं, कोमा में चली गई
ग्वालियर में क्वारैंटाइन 9 मुस्लिम खाने में मटन बिरयानी मांग रहे हैं, नहीं मिली तो हंगामा
पुलिस की वर्दी का रंग 'खाकी' क्यों होता है ब्राउन (कॉफी) क्यों नहीं होता 
दुबई में बर्बाद हुए 3 भारतीय ड्राइवरों को 41 करोड़ की JACKPOT LOTTERY
इंदौर में जनाजे और मुरैना में तेहरवीं से फैला संक्रमण
गाय और भैंस दोनों दूध देती हैं फिर केवल गाय पूजनीय क्यों, पढ़िए
जानिए क्या है राष्ट्रीय सुरक्षा कानून और इसे क्यों बनाया गया था ?
गैस चूल्हा और इमर्शन रॉड पर गर्म किए पानी में क्या अंतर होगा
ट्रेन के इंजन में कितने गियर होते हैं, जॉयस्टिक क्यों होती है
मंगलयान की तरह यदि AC को भी बार-बार ऑन-ऑफ करें तो क्या आधी बिजली खर्च होगी
योद्धाओं की मूर्ति में घोड़ों की टांगे कभी ऊपर कभी नीचे क्यों होती है
अंग्रेजी का सबसे लंबा और हिंदी का सबसे छोटा शब्द कौन सा है, क्या आप जानते हैं
यदि पेट्रोल को फ्रीजर में रख दें तो क्या वह बर्फ बन जाएगा, यहां पढ़िए
जबलपुर में दो महिला पटवारी सस्पेंड
हमने विदेशी जमातों को पकड़ा है वो कैरियर बन गए थे: शिवराज सिंह चौहान
ग्वालियर के लिए गुड न्यूज़, मध्य प्रदेश का पहला शहर कोरोना मुक्त हुआ
कोरोना पॉजिटिव का अंतिम संस्कार कोरोना योद्धाओं ने किया, घर वाले नहीं पहुंचे
MP BOARD: 10th-12th परीक्षाओं के विषय में महत्वपूर्ण सूचना
घूमने निकला कोरोना पॉजिटिव का परिवार, क्षेत्र में दहशत
पहाड़ से उतरते समय ट्रक की तरह ट्रेन का इंजन बंद कर दें तो क्या होगा?


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here