Loading...    
   


ग्वालियर में क्वारैंटाइन 9 मुस्लिम खाने में मटन बिरयानी मांग रहे हैं, नहीं मिली तो हंगामा | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। ग्वालियर में बाहरी प्रदेशों से आए लोगों को क्वारैंटाइन किया गया है। इनमें मुस्लिम समाज के 9 लोग भी शामिल है। इंसीडेंट कमांडर ने शिकायत की है कि इन सभी लोगों ने प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराए गए शाकाहारी भोजन को खाने से मना कर दिया। यह लोग मटन बिरयानी मांग रहे हैं। नहीं मिलने पर हंगामा कर रहे हैं। किसी भी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर पर पुलिस तैनात कर दी गई है। पुलिस का कहना है कि यह सभी लोग आसपास के राज्यों से भागकर गिजौर्रा थाना क्षेत्र में छुपे हुए थे।

महाराष्ट्र, तेलंगाना, गुजरात और बिहार से आए हैं

ग्वालियर पुलिस ने बताया कि मुस्लिम समाज के कुछ लोग महाराष्ट्र, तेलंगाना, गुजरात और बिहार से आकर गिजौर्रा के पास सिस गांव में रहने आ गए थे। यहां कुल 10 लोग मिले हैं। इनमें से 9 मुस्लिम समाज के लोग हैं जबकि एक हिंदू। सभी 10 लोगों को राज्य प्रबंधन संस्थान में बनाए गए क्वारैंटाइन सेंटर में भेजा गया ताे युवकाें न सिर्फ हंगामा किया बल्कि डॉक्टरों से अभद्रता की। इनमें से एक युवक ने स्टाफ पर थूक भी दिया। सभी ने अभद्रता करने के साथ क्वारैंटाइन सेंटर में दिए जाने वाला खाना खाने से इनकार कर दिया। हंगामा करने वाले सभी लोग मटन बिरयानी की मांग कर रहे हैं।

शाकाहारी भोजन की थाली में थूक दिया, मटन बिरयानी मांग रहे हैं

इंसीडेंट कमांडर रविनंदन तिवारी ने बताया कि गिजौर्रा के सिस गांव से 10 लोग स्वास्थ्य प्रबंधन संस्थान स्थित क्वारैंटाइन सेंटर में भेजे गए थे। इनमें से 9 मुस्लिम हैं। दोपहर में स्टाफ ने उन्हें बताया कि गिजौर्रा से आए लोग हंगामा कर रहे हैं। यह लोग मटन बिरयानी एवं मांसाहारी की डिमांड कर रहे हैं। जो खाना यहां उपलब्ध है, उसे देखकर थूक रहे हैं। इसके बाद वह खुद वहां पहुंचे और पुलिस को सूचना दी।

क्वारैंटाइन सेंटर में 24 घंटे पुलिस तैनात

जब यूनिवर्सिटी थाने का फोर्स यहां पहुंचा तो यह लोग शांत हो गए। फिर इंसीडेंट कमांडेंट ने पत्र लिखकर फोर्स तैनात करने की मांग की। अब यहां 8-8 घंटे के हिसाब से 9 पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। 3-3 पुलिसकर्मी 8-8 घंटे तैनात रहेंगे। डॉक्टर और स्टाफ से अभद्रता करने के मामले में फिलहाल कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

शिकायत में इन लोगों पर अभद्रता का आरोप लगाया गया है

इमरान खान 23 पुत्र सुलेमान खान निवासी दीदार कॉलोनी डबरा हाल निवासी कमामध रोड इंदरगढ़ दतिया, अंकलेश्वर, गुजरात के मोटर गैरिज में काम करता है। 28 फरवरी 2020 को गुजरात से चला था।
अंशार खान 19 पुत्र सुलेमान खान निवासी इंदरगढ़ दतिया हाल निवासी दीदार कॉलोनी अंकलेश्वर गुजरात में इलेक्ट्रीशियन क काम करता है। ग्राम सिसगांव के पास मुनीर खान भांजा रहता है । 28 फरवरी को गुजरात से चला था।
आरिफ खान 20 पुत्र नयोशे खान निवासी सिसगांव थाना गिजौर्रा हाल मल्ला जिल्ली हैदराबाद में टिफिन सेंटर में काम करता था। 21 मार्च को हैदराबाद से चला था।
शकील खान 18 पुत्र नूर खान निवासी सिसगांव थाना प्रभारी गिजौर्रा पूना ओल्ड होम्स में काम करता था। 22 मार्च को पूना से चला था।
हकीम खान 53 पुत्र छोटे खान निवासी मौ, गुजरात में मैकेनिक का काम करता था। 19 मार्च को वहां से चला था।
सेठी बाथम 30 पुत्र कल्लू बाथम निवासी ग्राम सिसगांव। पूना में लेवर का काम करता था। दो माह पूर्व पूना से चला था।
सोनू खान 25 पुत्र हकीम खान निवासी सिसगांव। हैदराबाद से 19 मार्च को चला था।
मुक्की खान 30 पुत्र युसुफ खान निवासी सिसगांव। बिहार में टिक्की बेचने का काम करता था। 15 मार्च को वहां से चला था।
लियाकत अली 62 पुत्र खुदाबक्स निवासी रामगढ़ डबरा। 28 फरवरी को वह डबरा से सिसगांव में सब्बीर खान के यहां आया था।

05 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें

बड़ी खबर: भोपाल में एक साथ 3 डॉक्टरों सहित 23 नए कोरोना संक्रमित, टोटल 41
पहाड़ से उतरते समय ट्रक की तरह ट्रेन का इंजन बंद कर दें तो क्या होगा?
प्रमुख सचिव पल्लवी जैन गोविल को बचाने की हर संभव कोशिश शुरू
भोपाल: 40 पॉजिटिव में 20 मरकज वाले, 13 स्वास्थ विभाग के अधिकारी-कर्मचारी
क्या बिना वकील के जनहित याचिका लगाई जा सकती है, जानिए सभी नियम


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here