Loading...    
   


स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव डॉ पल्लवी अफसरों में कोरोना वायरस के संक्रमण के लिए जिम्मेदार ? | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव एवं भारतीय प्रशासनिक सेवा की महिला अधिकारी डॉक्टर पल्लवी जैन गोविल राजधानी में कोरोनावायरस का संक्रमण फैलाने के लिए जिम्मेदार मानी जा रही है। उन्होंने कई नियमों का उल्लंघन किया है। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की जा रही है। 

बेटा अमेरिका से लौटा था लेकिन क्वॉरेंटाइन नहीं कराया 

बताया जा रहा है कि डॉक्टर पल्लवी जैन का बेटा अमेरिका से लौटा था। अमेरिका में करुणा वायरस का संक्रमण चीन के बाद सबसे ज्यादा है। नियमानुसार विदेश से लौट कर आने वाले लोगों को 14 दिन होम क्वॉरेंटाइन के लिए निर्देशित किया जाता है। पालना करने वालों को क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेज दिया जाता है परंतु डॉक्टर पल्लवी जैन गोविल ने ना तो अपने बेटे को सेल्फ क्वॉरेंटाइन के लिए पाबंद किया और ना ही उसे किसी क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेजा। 

मुख्यमंत्री की मीटिंग में छींकते हुए वीडियो वायरल 

कोरोना वायरस के लक्षणों में सर्दी-खांसी, जुकाम-बुखार एवं सांस लेने में तकलीफ प्रमुख है। एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें डॉक्टर पल्लवी जैन गोविल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मीटिंग में उपस्थित हैं एवं जुकाम से पीड़ित हैं। वह बार-बार छींकते हुए दिखाई दी। उन्होंने मास्क लगाया हुआ था लेकिन छींकते समय मास्क को हटाया और साड़ी के पल्लू का उपयोग किया। 

प्रशासनिक अधिकारियों में संक्रमण फैलाने की जिम्मेदार

इसी हरकत को संक्रमण फैलाने वाली हरकत बताया जा रहा है। आरोप है कि जब मुख्यमंत्री की मीटिंग में डॉक्टर पल्लवी की स्थिति थी तो अपने विभाग के अन्य अधिकारी कर्मचारियों के साथ मीटिंग में उन्होंने कितना संक्रमण फैलाया होगा। आरोप इसलिए भी है क्योंकि उनके दो अधीनस्थ अधिकारी कोरोनावायरस से पॉजिटिव पाए गए हैं। कहा तो यह भी जा रहा है कि चतुर्थ श्रेणी के कुछ कर्मचारी कोरोनावायरस पॉजिटिव पाए गए हैं लेकिन समाचार लिखे जाने तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई थी। 

रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भी घर के बाहर DO NOT VISIT पर्चा नहीं 


कोरोना वायरस के संदिग्ध यहां तक कि सेल्फ क्वॉरेंटाइन में और रहने वाले लोगों के घरों के बाहर प्रशासन द्वारा DO NOT VISIT का पर्चा लगाया जाता है। पत्रकार श्री केके सक्सेना के मामले में तो शहर भर के सभी पत्रकारों के दरवाजे पर पर्चा लगाने के लिए टीम रवाना कर दी गई थी लेकिन भोपाल के 3 बड़े अधिकारी पॉजिटिव और 14 सीनियर आईएएस ऑफिसर आइसोलेशन में होने के बावजूद किसी के घर के बाहर कोई पर्चा नहीं लगाया गया है।

डॉक्टर पल्लवी पॉजिटिव के बाद भी मुख्यमंत्री की वीडियो कॉन्फ्रेंस में थी 

स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव डॉक्टर पल्लवी जैन गोविल कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए जाने के बावजूद आइसोलेशन वार्ड में नहीं है। कल शनिवार को पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद भी उन्होंने हेल्थ बुलेटिन जारी किया। आज रविवार को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की वीडियो कॉन्फ्रेंस में उपस्थित थी। स्वाभाविक है उन्हें कैमरे के सामने लाने के लिए कुछ लोगों को उनके आसपास जाना पड़ता है। संख्या कम है लेकिन खतरा तो है। सवाल यह है कि डॉक्टर पल्लवी जैन गोविल नियमों का पालन क्यों नहीं कर रही और क्यों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उन्हें ढील दे रहे हैं।

04 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here