Loading...    
   


उज्जैन की तनु लवमैरिज के बाद दूसरी शादी करने वाली थी, इसलिए मार डाला / MP NEWS

उज्जैन। मध्य प्रदेश में उज्जैन के नानाखेड़ा स्थित होटल नटराज में गुरुवार दोपहर न्यू इंदिरा नगर निवासी छात्रा तनु परिहार की गला रेतकर हत्या का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। हत्याकांड में जो खुलासा हुआ है वह बहुत ही चौंकाने वाला है। 

आरोपी सुभाष और तनु ने जुलाई महीने में घरवालों को बिना बताए दो बार शादी की थी। तनु की मां उसके लिए लड़का देख रही थी। तनु भी सुभाष को छोड़कर मां की पसंद के लड़के के साथ शादी करना चाहती थी। इसी बात को लेकर सुभाष गुस्से में था और उसने होटल में ले जाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद वह उसका मोबाइल लेकर फरार हाे गया था। पुलिस ने उसे आगर से गिरफ्तार कर दाेनों के मोबाइल, चाकू और हत्या के लिए उपयोग किए गए ऑटो को जब्त कर लिया है। 

यह है पूरा मामला 

पुलिस के अनुसार तनु और सुभाष दोनों पड़ोसी थे। तनु द्वितीय वर्ष की छात्रा थी। 23 साल के आरोपी सुभाष पिता आत्माराम पोरवाल निवासी न्यू इंदिरा नगर ने बताया कि वह ऑटाे चलाता है। उसका घर के सामने रहने वाली तनु परिहार से करीब पांच साल से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। उन्होंने परिवार को बिना बताए दोनों की मर्जी से दो बार शादी की। पहली शादी 9 जुलाई को नोटरी के जरिए और दूसरी शादी 23 जुलाई को चिंतामण गणेश मंदिर में जाकर। सुभाष ने बताया कि उसने अपने घरवालों को तनु से शादी करना बता दिया था, लेकिन तनु अपने घरवालों से यह बात छिपा रही थी।

तनु की मां ने उसकी शादी के लिए एक लड़का देख लिया था। यह बात सुभाष को पता चली तो उसने तनु से पूरी बात उसके घरवालों को बताने के लिए कहा। लेकिन तनु ऐसा नहीं कर रही थी, इसी बात को लेकर दाेनों में विवाद चल रहा था। सुभाष साथ रहने के लिए दबाव बना रहा था, लेकिन तनु सबकुछ भूलकर मां की पसंद के लड़के से शादी करने की जिद पर अड़ी थी। बार-बार समझाने के बाद भी तनु नहीं मानी तो वह प्लानिंग के तहत अपने ऑटो से उसे होटल में ले गया। यहां पर भी उसने कहा कि जब हमने शादी कर ली है तो फिर तुम दूसरी जगह शादी क्यों कर रही हो। इस पर उसने कहा कि जो मां कहेगी मैं वही करूंगी। इसी बात से गुस्साए सुभाष ने साथ लाए चाकू से उसका गला रेत दिया। आरोपी ने गला कटाने के बाद उसके पेट में तीन वार किए थे। आरोपी ने बताया कि हत्या के बाद वह ऑटो से ही शाजापुर पहुंचा और वहां से मौसी के यहां आगर पहुंचा था, जहां पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

यह है पूरा घटनाक्रम 

गुरुवार को करीब 11.15 बजे सुभाष, तनु को ऑटो से लेकर होटल पहुंचा था। आईडी दिखाकर दोनों ने शाम तक के लिए रूम बुक करवाया। कुछ देर बाद सुभाष कर्मचारियों को यह कहकर चला गया कि वह कुछ सामान लेने जा रहा है। 5-10 मिनट में आ जाएगा। वह नहीं लौटा तो होटलकर्मी दुर्गेश पटेल ने कमरे पर जाकर दरवाजा खटखटाया। दरवाजा नहीं खोलने पर भीतर जाकर देखा तो खून में लथपथ तनु की लाश पड़ी थी। तब पुलिस को सूचना दी। एसपी मनोज कमार सिंह, सीएसपी एचएन बाथम और एफएसएल अधिकारी अरविंद नायक मौके पर पहुंचे।

होटलकर्मी दुर्गेश ने बताया कि दोनों के होटल पहुंचने से पहले उसके पास फोन आया था। इसमें सामने वाले युवक ने नाम विशाल पोरवाल बताया था। कहा था कि हम आराम करना चाहते हैं। इसलिए शाम तक कमरा चाहिए। तनु के परिवार में उसकी मां और उसके दो छोटे भाई हैं। तनु के पिता की मौत के बाद परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। तनु सुबह घर से कुछ देर में आने का कहकर निकली थी। दो-ढाई घंटे बाद उसकी मौत की खबर पुलिस ने दी।

14 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here