Loading...    
   


शिक्षक भर्ती प्रक्रिया निरस्त होनी चाहिए, बड़ी गड़बड़ियां हैं - Khula Khat

प्रति, संपादक महोदय, भोपाल समचार डॉट कॉम। महोदय शिक्षक भर्ती 2018 में जो नियम बनाये वो गलत हैं जो निम्न है :-
1- Ews  को भर्ती मैं qualify मार्क्स 90 की जगह 75 होना था।
2- Obc को दिया गया आरक्षण 27% की जगह 14% देना था।
3- अतिथि को 25% & 75% दोनो में शामिल करना था या फिर 25 मार्क्स बोनस देना था।
4- वर्ग 1 class 9 से 12 तक रहता है जबकि  dpi ने कुछ स्कूल में 9 & 10वीं को वर्ग 2 की पोस्ट दी है। जबकि 9 से 12 के लिये  MA/MSC/MCOM  को  होना था।

5-  यदि किसी ने नियमित डिग्री/ डिप्लोमा या अतिथि रहते इन तीन में से कोई 2 कार्य किये तो उसे निरस्त किया जाना था।
6 -केंद्रीय/नवोदय/आर्मी/ स्कूल में pg में 50% होना चाहिये लेकिन dpi के नियम अलग है इन्होने तो pg में 45% से 49% वालों को भी ले लिया।
7- rte के अनुसार pgt के लिये TET जरुरी नही फिर भी यहां के नियम अलग हैं।
8- परीक्षा की वैद्यता 18 month है। यहां तो 22 month हो गये। Tet एग्ज़ाम हर 3 साल में होना चाहिये लेकिन यहां सब अपने हिसाब से चलते है।

9-  शिक्षक भर्ती 2018 में 10 से लेकर 32 question निरस्त किये फिर भी परीक्षा निरस्त  नई की गई। 
क्या  इतने question cancel होने पर परीक्षा की विश्वस्नीयता पर शंका नहीं होती। परीक्षा PEB की जगह PSC से लेना चाहिये। परीक्षा नियम विरुद्ध है। क्या इसे निरस्त होना चाहिये। 
धन्यवाद, सतीश कटारे, जबलपुर

03 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here