Loading...    
   


कॉपी पेस्ट करने वाले यूजर्स के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू: Twitter

भारत में राजनीति का नया अड्डा बनती जा रही माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने एक बड़ा डिसीजन लिया है। कॉपी पेस्ट करने वाले यूजर्स के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू कर दी है। इस कार्रवाई के तहत यदि कोई ट्विटर पर पोस्ट किया हुआ कंटेंट कॉपी करके फिर से पोस्ट करता है तो उसके अकाउंट की विजिबिलिटी कम कर दी जाएगी। यानी उसकी पोस्ट उसके फॉलोअर्स को दिखाई नहीं देगी। बता दें कि गूगल भी कॉपी पेस्ट करने वाली वेबसाइटों के खिलाफ इसी प्रकार के कई प्रतिबंध लगाता है।

Twitter ने ऐसे ट्वीट को छिपाने (Hide) का फैसला लिया है जो कि कॉपी-पेस्ट होगा यानी यदि आप किसी के ट्वीट को कॉपी करके पेस्ट कर रहे हैं तो ऐसे ट्वीट आपकी टाइमलाइन पर तो दिखाई देंगे परंतु आपके फॉलोअर्स की टाइमलाइन से हाइड कर दिए जाएंगे।

Twitter ने इसकी जानकारी ट्वीट करके दी है और बकायदा इसे समझाया भी है। ट्विटर ने कहा है कि पिछले कुछ सालों में उसके प्लेटफॉर्म पर कॉपी-पेस्ट ‘copypasta’ वाले ट्वीट की संख्या में भारी इजाफा हुआ है। एक ही ट्वीट को कई लोग कॉपी करके ट्वीट कर रहे हैं।  

ऐसे में हमने ऐसे ट्वीट की विजिबलिटी को कम करने का फैसला किया है। ट्विटर ने अपनी नई पॉलिसी में copypasta ट्वीट को भी शामिल किया है। बता दें कि ऑनलाइन दुनिया में डुप्लिटकेट कंटेंट के लिए copypasta का इस्तेमाल किया जाता है। 

Twitter पर कॉपी करने का विकल्प बंद भी कर सकते हैं

Twitter ने इसे लेकर मोबाइल एप में एक फीचर भी जारी किया है जहां से आप अपने ट्वीट को कॉपी करने का विकल्प बंद कर सकते हैं। वहीं कंपनी ने हाल ही में ‘Retweet with quote’ फीचर भी जारी किया है।

Copypasta ट्वीट का इस्तेमाल सबसे ज्यादा स्पैमिंग और किसी कैंपेन के लिए होता है। अक्सर आपने देखा होगा कि हजारों अकाउंट से एक ही जैसे ट्वीट किए जाते हैं। ये सब ट्रेंडिंग और किसी खास व्यक्ति या संस्था को निशाने पर लेने के लिए होता है। इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल राजनीतिक प्रोपेगैंडा फैलाने के लिए होता है।

copypasta ट्वीट का एक नुकसान यह भी है कि यदि किसी की ऑरिजनल कंटेंट भी उसका नहीं रह जाता है। लोग कॉपी करके अपने नाम के साथ ट्वीट कर देते हैं। ऐसे में असली कंटेंट क्रिएटर को कम और कॉपी-पेस्ट करने वाले को अधिक फायदा हो जाता है।

31 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here