Loading...    
   


ग्वालियर वाले रेल अफसर की बेटी ने माँ-भाई को गोली मारी, शीशे पर लिखा डिस्क्वालीफाइड ह्यूमन / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। रेल मंत्रालय में एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर आरडी बाजपेईकी नाबालिग बेटी ने अपनी मां और भाई की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय के मुताबिक रेलवे अधिकारी की बेटी अवसाद में थी, जिसके कारण उसने वारदात कर दी। किशोरी राष्ट्रीय स्तर की निशानेबाज है और उसने कई मेडल भी जीते हैं। वह कक्षा नौ की छात्रा है। 

रेलवे मंत्रालय के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर आरडी बाजपेई मूलता ग्वालियर के सुरेश नगर में रहने वाले हैं। यहां उनकी मां और छोटा भाई रहता है। घटना के बारे में पता चलते ही दोपहर वह दोनों लखनऊ के लिए रवाना हो गए हैं। बाजपेई दिल्ली में इन्फॉर्मेशन एंड पब्लिकेशन विभाग में तैनात हैं। उनकी पत्नी मालिनी, बेटा सर्वदत्त और बेटी विक्रमादित्य मार्ग स्थित सरकारी आवास में रहते थे। शनिवार को यहां पत्नी, बेटी व बेटा मौजूद थे। दिन में करीब साढ़े तीन बजे डायल 112 पर पुलिस को डबल मर्डर की सूचना मिली। इसके बाद डीजीपी एचसी अवस्थी और पुलिस आयुक्त घटनास्थल पर पहुंचे।

घटना की जानकारी किशोरी ने सबसे पहले अपने मामा को फोन कर दी थी। उनसे कहा कि मम्मी और भैया उठ नहीं रहे हैं। इसके बाद वह रोने लगी। वह मौके पर पहुुुंचे तो भीतर का नजारा देखकर सन्न रह गए। मालिनी और सर्वदत्त कमरे में मृत पड़े थे। किशोरी शुरुआत में पुलिस को गुमराह करती रही। उसने गोली चलने की आवाज सुनने से भी इन्कार कर दिया। पुलिस को बताया कि दोपहर करीब तीन बजे उसने मां व भाई को आवाज लगाई, लेकिन दोनों ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। इसके बाद वह अपने कमरे से बाहर आकर मां के पास गई तो देखा कि भाई भी पास में लेटा हुआ है। पास जाकर देखा तो दोनों लहूलुहान पड़े थे। इसके बाद मामा को फोन किया। किशोरी के हाथ पर बैंडेज बंधी थी, जिससे पुलिस को शक हुआ। सख्ती से पूछताछ पर उसने हत्या करने की बात कुबूल कर ली।

पुलिस ने छानबीन की तो बाथरूम के शीशे पर डिस्क्वालीफाइड ह्यूमन लिखा मिला। किशोरी ने यह लिखने के बाद शीशे पर भी फायरिग की थी। पुलिस आयुक्त का कहना है कि .22 बोर का असलहा बरामद कर लिया गया है। पूछताछ में उसने बताया कि असलहे में उसने पांच गोलियां लोड की थीं, जिसमें तीन उसने चलाईं। पूछताछ में किशोरी ने कहा कि पापा के आने के बाद ही वह कुछ बताएगी, लेकिन बाद में उसने पूरी कहानी बयां कर दी। हाथ पर लगी चोट के बारे में पूछा गया तो उसने कहा कि सदमे में आकर उसने खुद को चोट पहुंचाई थी।

30 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्यप्रदेश कर्मचारियों के इलाज के लिए 93 प्राइवेट अस्पतालों की लिस्ट
संपत्ति की सुरक्षा का अधिकार कब प्रारंभ होता है और कब तक बना रहता है
कपूर आइस्क्रीम की तरह बनाया जाता है या पेड़ पर लगा होता है, हवा में उड़ क्यों जाता है
मध्यप्रदेश में भीषण बाढ़ के बाद 6 जिलों के लिए रेड अलर्ट, 20 जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here