Loading...    
   


ग्वालियर में पिज्जा डिलेवरी की तरह टाइम लिमिट में मिलेगा बिजली कनेक्शन / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। शहरवासियों के लिए एक राहत भरी यह है कि अब उन्हे बिजली कनेक्शन के लिए बिजलघरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे, साथ ही वह उन दलालों से भी बच जाएंगे जो इस काम को कराने के एवज में आवेदक की जेब ढीली करने में कोई कसर नहीं छोड़ते थे और लोगों को मोटी रकम देने के बाद भी कनेक्शनके लिए लंबा इंतजार करना पड़ता था। 

यह संभव होगा पोर्टल शुरु होने के बाद, इसकी घोषणा कम्पनी के सीएमडी ने तो कर दी है, साथ ही स्थानीय स्तर पर भी बिजली विभागकी पूरी तैयारी है। आदेश मिलते ही इस पर काम शुरु हो जाएगा। यही नहीं दूसरा लाभ उपभोक्ता को यह होगा कि उसे यदि समय सीमा में कनेक्शन नहीं मिला तो फिर कंपनी पैनल्टी देगी।

इस तरह योजना लेगी अंजाम
पोर्टल शुरु होने के बाद उपभोक्ताओं को एक दिन के भीतर बिजलाी कनेक्शन देने का जिक्र कपनी ने किया है। यही नहीं समय सीमा बाकायदा तय होगी। सारा काम ऑनलाइन होगा। जिसके तहत कनेक्शन पाने वालों को अपने इससे संबंधित आवश्यक दस्तावेज पोर्टल पर डालने होंगे। होंगे और इसका फोटो कैप्चर करना होगा घरेलू कनेक्शन जहां 24 घंटे में मिल जाएगा। वहीं व्यवसायिक कनेक्शन के लिए 72 घंटे का समय लगेगा। आवेदन फीड होते ही कर्मचारी मौका मुआयना करने रवाना हो जाएंगे और सारी जानकारियां हासिल कर कनेक्शन सेल को सौंप देंगे। इस दौरान यदि बीच में अवकाश पड़ता है तो फिर उसके अगले रोज कनेक्शन की कार्रवाई पूरी कर दी जाएगी. इस दिन को 24 घंटे में नहीं जोड़ा जाएगा। यह प्रक्रिया काफी जटिल है, जिसके चलते उपभोक्ता कनेक्शन के लिए परेशान होते रहते थे। इसके लिए कौनसे दस्तावेज देने होंगे यह जानकारी भी पोर्टल पर विस्तृत रूप से उल्लेखित रहेगी।

28 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ग्वालियर में लड़की ने ब्लैकमेलर को मां का ATM और गहने तक दे दिए फिर भी नहीं माना 
मध्य प्रदेश के 38 जिलों में 5 दिन लगातार बारिश की संभावना 
ट्रैक्टर का साइलेंसर ऊपर की ओर क्यों होता है, कार की तरह पीछे, ट्रक की तरह साइड में क्यों नहीं 
जानिए, रत्ती में ऐसा क्या है जो हीरे-जवाहरात के लिए डिजिटल तराजु के बजाए उस पर भरोसा करते हैं 
दुनिया का पहला पिगी बैंक कहां बना, क्या सूअर बचत का प्रतीक होता है 
AIRTEL 52.6 लाख और VODAFONE-IDEA को 45.1 लाख यूजर्स का घाटा, JIO मुनाफे में
मिस्र देश की रानियां कभी बूढ़ी क्यों नहीं होती थी, क्या उनके पास कोई फार्मूला था
एमपी बोर्ड 12वीं: लड़कियां और सरकारी स्कूल, लड़कों और प्राइवेट स्कूल से आगे
एमपी बोर्ड जिला स्तरीय मेरिट लिस्ट
एमपी बोर्ड 12वीं प्रदेश स्तरीय मेरिट लिस्ट 
टीवी-फ्रिज की पैकिंग में थर्माकोल ही क्यों यूज करते हैं, जबकि ट्रांसपोर्टेशन के झटके सहने के लिए कई अच्छे विकल्प हैं 
किस सिक्के में मिलावट पर 3 साल और किसमें 7 साल की सजा होती है, पढ़िए मजेदार जानकारी 
कर्मचारी को वेतनवृद्धि मामले में लोकशिक्षण संचालनालय के स्पष्टीकरण का विश्लेषण
ग्वालियर में सरेआम लड़की को किडनैप कर चलते ऑटो में रेप की कोशिश
हमारा घर हमारा विद्यालय के कारण संक्रमित हुए शिक्षक की मौत


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here