Loading...    
   


लॉकडाउन में भाजपा की गुटबाजी ओपन, पूर्वमंत्री और सांसद भी कूदे / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। भाजपा के नये जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी की नियुक्ति के बाद ग्वालियर के भाजपा नेताओं में गुटबाजी तेज हो गई है। एक गुट में भाजपा के पूर्व वरिष्ठ पदाधिकारी और बड़े-बड़े नेता शामिल हैं जो केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के करीबी माने जाते हैं। वहीं दूसरे ग्रुप में जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी के साथ युवा नेता और नये पदाधिकारी शामिल हैं। भाजपा के संभागीय संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी ने कार्यकर्ता नेताओं को शुक्रवार दोपहर में मुखर्जी भवन में मिलने के लिये बुलाया था। यहां भारी भीड़ देखी गयी। मुखर्जी भवन के छोटे से हॉल से लेकर नीचे सडक़ तक करीब तीन सैकड़ा से अधिक कार्यकर्ता भीड़ के रुप में एक दूसरे के पास खड़े रहे और सोशल डिस्टेंसिग का बिलकुल पालन नहीं किया। इस तरह कोरोना का वे खतरा बढ़ाते रहे।

जिलाध्यक्ष का विरोध कर रहे विरोधी गुट के नेता जय सिंह कुशवाह के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने शॉलीमार गार्डन ठाठीपुर में अपनी ताकत दिखाई। यहां सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया गया और सभी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग की अपील की। जिलाध्यक्ष बनने के बाद कमल माखीजानी का लगातार विरोध हो रहा है। विरोध करने वालों में अधिकांश वरिष्ठ नेता केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के करीबी माने जाते हैं। उधर नये जिलाध्यक्ष माखीजानी को पूर्व सांसद अनूप मिश्रा पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया और वर्तमान सांसद विवेक शेजवलकर का पूरा समर्थन मिल रहा है। इस तरह ग्वालियर की भाजपा नेताओं की लड़ाई अब पूरी तरह से तोमर और अन्य नेताओं के बीच की होकर रह गई है जिसमें जिलाध्यक्ष की नियुक्ति को मोहरा बनाया जा रहा है। 

ऐसा पहली बार हो रहा है कि एक गुट के सभी नेता जयसिंह कुशवाह, अशोक जादौन, रामेश्वर भदोरिया, सोनू मंगल, शरद गोतम, पूर्व जिलाध्यक्ष देवेश शर्मा सभी तोमर समर्थक माने जाते हैं। वहीं दूसरे गुट में जो जिलाध्यक्ष की नियुक्ति का समर्थन कर रहे हैं। उनमें केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर के विरोधी माने जाने वाले सभी उनके बराबर के और वरिष्ठ नेता अनूप मिश्रा, जयभान सिंह पवैया, विवेक शेजवलकर एक हो गये हैं और वे नये जिलाध्यक्ष को मोहरा बनाकर अपनी ताकत दिखा रहे हैं।

शेजवलकर पार्टी विरोधी रहे हैं - जयसिंह

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व साडा अध्यक्ष जयसिंह कुशवाह का कहना है कि सांसद शेजवलकर को पार्टी ने दो बार महापौर बनाया है उनके पिता भी सांसद व महापौर रहे हैं। इसके बाद भी विवेक शेजवलकर पार्टी का विरोध करते रहे हैं। ऐसे में उनके दरवाजे पर बैठे रहने वाले कमल माखीजानी को जिलाध्यक्ष बनाने का आधार क्या है। माखीजानी ने भाजपा कार्यकर्ताओं का सार्वजनिक रूप से गाली दी है। वर्ष 2003 में जब पार्टी ने अनूप मिश्रा को विधानसभा का टिकिट दिया था तब शेजवलकर ने इसका खुलकर विरोध किया था और मिश्रा के खिलाफ अपने ही समाज के एक भाजपा नेता को पार्टी के विरोध में प्रत्याशी घोषित कर दिया था तब पार्टी ने उनके खिलाफ कोई कार्यवाही क्यों नहीं की।


15 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

चक्रवाती तूफान आने वाला है, 7 राज्यों के सैकड़ों शहरों को प्रभावित करेगा
नए टू व्हीलर्स की हेडलाइट हमेशा ऑन क्यों रहती है 
MPPEB EXAM DATE: प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड ने 11 परीक्षाओं की तारीख घोषित की
महिलाएं आटा गूंथने के बाद उस पर उंगलियों से निशान क्यों बनाती हैं, जानिए रहस्य की बात 
इंदौर के MTH हॉस्पिटल में भर्ती मरीज चौथी मंजिल से कूदा, मौत
टॉयलेट के तुरंत बाद पानी पीना चाहिए या नहीं, पढ़िए
भारत में नर्सों को सिस्टर क्यों कहते हैं, परंपरा या कुछ और
दरिंदा शिक्षक अपनी ही नाबालिग बेटी का रेप करने लगा, कपड़े उतार कर पीटता था 
अनुच्छेद 21 जीवन का अधिकार देता है तो फिर मृत्यु का अधिकार क्यों नहीं, पढ़िए
दमोह में पहला कोरोना केस मिला, कलेक्टर/एसपी रवाना, महाराष्ट्र से आया था युवक
ग्वालियर में दुकानदारों को लॉकडाउन नामंजूर, बाजार खोल दिया
इंदौर में डॉक्टर ने बीमार युवती का रेप कर डाला, लॉकडाउन के कारण मौका मिला
25 साल बाद बदला लिया: माथे पर रायफल अड़ाकर गोली मारी
शिवलिंग की वेदी का मुख उत्तर दिशा की तरफ ही क्यों होता है 
मध्य प्रदेश: 4543 में से 253 पॉजिटिव, 4226 में से 2171 डिस्चार्ज
दिमाग से निकाल दीजिए UPSC क्लियर करने 20 घंटे पढ़ना जरूरी है: पूनम दहिया
लाॅकडाउन 4.0 में भोपाल के व्यापारियों को राहत मिलेगी, 6 सेक्टर में खुलेंगी दुकानें
कानून में संशोधन के बाद गर्भपात कब-कब अपराध की श्रेणी में आता है, जानिए
30 जून को रिटायर्ड शिक्षकों को वेतन वृद्धि नहीं लगाई जाएगी: लोक शिक्षण संचालनालय
मस्जिद के लाउडस्पीकर से अजान दूसरों के मूल अधिकारों का उल्लंघन: हाईकोर्ट
ऑनलाइन पर्सनल लोन के लिए आवेदन करते समय क्या करें और क्या नहीं करें
मध्यप्रदेश में अगले एक महीने में 85000 कोरोना पॉजिटिव की संभावना: स्वास्थ्य विभाग
मप्र के सभी कलेक्टर/CMHO को आदेश / NEW GUIDELINES for COVID 19 TREATMENT
भोपाल में कंटेनमेंट एरिया की नई लिस्ट जारी / BHOPAL CANTONMENT AREA LIST
पीएम मोदी के आदेश पर 1200 ट्रेनें प्रवासी मजदूरों के लिए आरक्षित
भोपाल में कोरोना संक्रमण के जिम्मेदार 17 विदेशी जमातियों को जेल भेजा
ब्राह्मण समाज आंदोलित: विकास के मुंह में मूत्र उड़ेल दिया था इसलिए सुसाइड किया


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here