MP NEWS- शिक्षा मंत्री ने चयनित शिक्षकों को परमानेंट धरने के लिए भेजा

भोपाल
। मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने बंगले पर नियुक्ति मांगने आए चयनित शिक्षकों को परमानेंट धरने पर बैठने के लिए नीलम पार्क भेज दिया। स्कूल शिक्षा मंत्री के कार्यालय की ओर से पुलिस बुलाई गई। पुलिस ने चयनित शिक्षकों को एक बस में बिठाया और नीलम पार्क में छोड़ दिया। यहां चयनित शिक्षक धरने पर बैठे हुए हैं। 

प्रक्रिया के अनुसार दस्तावेज सत्यापन के तत्काल बाद नियुक्ति पत्र दिए जाने चाहिए परंतु मध्य प्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग शिक्षक पात्रता परीक्षा में चयनित शिक्षक वर्ग-1 और शिक्षक वर्ग-2 के उम्मीदवारों को डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के बाद भी नियुक्ति पत्र नहीं दिए गए हैं। शिक्षा मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक शिक्षकों को नियुक्ति के लिए तारीख की घोषणा कर चुके हैं। हर बार एक नई तारीख दी जा रही है। 

शिक्षक पात्रता परीक्षा में चयनित अभ्यर्थी अलग-अलग जिलों से मंगलवार को सुबह भोपाल पहुंचे। यहां से चयनित शिक्षक शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के श्यामला हिल्स स्थित सरकारी आवास पर सुबह 9.30 बजे पहुंचे। सभी उम्मीदवार स्कूल शिक्षा मंत्री से मिलने एवं नियुक्ति की फाइनल डेट जानने के लिए आए थे लेकिन शिक्षा मंत्री के ऑफिस में पुलिस बुला ली। पुलिस ने सभी को जबरदस्ती बस में बैठा कर नीलाम पार्क पहुंचा दिया। 

इसके अलावा अन्य स्थानों से आ रहे चयनित शिक्षकों को अलग-अलग जगह पॉलिटेक्निक चौराहा, हबीबगंज रेलवे स्टेशन, भोपाल रेलवे स्टेशन पर रोक लिया। यहां से चयनित शिक्षक सीधे नीलाम पार्क पहुंचे।

चयनित शिक्षक बालराम पाल ने बताया कि हम सरकार और विभाग की तरफ से ठोस आश्वासन और ज्वाइंनिग की तारीख नहीं मिलने तक सभी नीलाम पार्क में ही धरने पर बैठेंगे। उन्होंने कहा कि ना तो सरकारी अधिकारी हमें कोई ठोस जानकारी दे रहे है और ना ही सरकार का कोई मंत्री हमसे मिल रहा है।

अभ्यार्थियों ने कहा कि वर्ष 2018 में शिक्षक पात्रता परीक्षा का विज्ञापन निकला था। इसके बाद जनवरी 2019 में परीक्षा आयोजित हुई। इसमें 30 हजार अभ्यर्थी पास हुए। इसके बाद सत्यापन की भी प्रक्रिया शुरू हो गई, लेकिन नियुक्ति नहीं दी जा रही है। अभ्यर्थियों का कहना है कि अब सरकार स्कूल भी खोल रही है। हमारी मांगों के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। सरकार क्या तीसरी लहर का इंतजार कर रही है।

27 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश मानसून- 9 जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी, पूरे प्रदेश में बारिश होगी
MP NEWS- JABALPUR का युवक, 2 मंत्रियों का कथित निजी सचिव, गिरफ्तार
MP BOARD 12th RESULT DATE घोषित, ऐसे चेक करें
MP NEWS- कर्मचारियों के इंक्रीमेंट के संबंध में वित्त विभाग का स्पष्टीकरण
MP NEWS- दुष्कर्म पीड़ित छात्रा का शोषण करने वाले शिक्षक को गुरु पूर्णिमा के दिन 5 साल की जेल 
INDORE NEWS- स्कूल तो खुले लेकिन स्टूडेंट्स नहीं आए
GWALIOR NEWS- ज्योतिरादित्य सिंधिया के OSD कांग्रेस के टारगेट पर, भोपाल से उठा सवाल
EMPLOYEE NEWS- बैन हट गया लेकिन तबादले नहीं हो रहे, कर्मचारी परेशान
MP NEWS- कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने कलेक्टर को निकम्मा, बेवकूफ और... कहा
MP NEWS- चयनित शिक्षकों ने बीजेपी प्रदेश कार्यालय में प्रदर्शन किया
EMPLOYEE NEWS- मप्र में हड़ताली कर्मचारियों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी
 

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiत्रिपुंड का वैज्ञानिक महत्व क्या है, दिखावे के लिए तो नहीं लगाते, यहां पढ़िए 
GK in Hindiहार्ड डिस्क की क्षमता, GB और TB के बाद क्या आता है
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
GK in Hindi₹1 के नोट पर गवर्नर के हस्ताक्षर क्यों नहीं होते हैं 
GK in Hindiइंसान को शेर कहना शान और गधा कहना अपमान क्यों माना जाता है 
GK in Hindi- खतरे का रंग लाल क्यों होता है काला क्यों नहीं
GK in Hindiपुष्पक विमान किस ईंधन से चलता था, पेट्रोल और बैटरी तो उस समय होते नहीं थे
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here