इंसान को शेर कहना शान और गधा कहना अपमान क्यों माना जाता है - GK in Hindi

क्या आप जानते हैं
, गधे की याददाश्त बहुत अच्छी होती है। वह 25 साल पुराने मालिक को भी याद रखता है। रास्ता नहीं भूलता। सहनशक्ति बहुत ज्यादा होती है और कठिन रास्तों पर भी आसानी से चल पाता है जबकि शेर कमजोर होता है, औसत 8 में से सिर्फ 1 नर शेर ही युवा अवस्था तक जीवित रहता है। वह शिकार नहीं कर पाता, भोजन के लिए शेरनी पर डिपेंड होता है। यदि शेरनी का साथ ना हो तो डर के मारे जंगल छोड़कर घास के मैदान में छुप जाता है। बावजूद इसके इंसानों को शेर कह कर सम्मानित और गधा कहकर अपमानित किया जाता है। सवाल यह है कि जब गधा इतना स्पेशल होता है तो फिर उसका नाम इंसानों को अपमानित करने के लिए क्यों लिया जाता है। 

किसी का मजाक उड़ाने के लिए उसे गधा क्यों कहा जाता है

अपन सरल हिंदी में सीधे अपने प्रश्न के उत्तर की तरफ आते हैं। गधे के बारे में एक प्राचीन कथा है जो कई बार प्रमाणित भी हुई है। एक गधे को कई दिनों तक भोजन एवं पानी नहीं दिया गया। वह भूख और प्यास से तड़प रहा था। तभी उसे एक ऐसे स्थान पर लाकर खड़ा कर दिया गया जहां से गधे की लेफ्ट साइड में भोजन रखा हुआ था और राइट साइड में पानी का बर्तन। दोनों की दूरी समान थी और गधा स्वतंत्र था, यह चुनने के लिए कि उसे पहले भोजन करना है या फिर पानी पीना है। 

गधा बीच में खड़ा रहा। वह कभी भोजन की तरफ तो कभी पानी की तरफ देखता था। वह डिसीजन नहीं कर पा रहा था कि उसे किस तरफ जाना चाहिए। वह पूरी तरह से स्वतंत्र था परंतु अपनी स्वतंत्रता का उपयोग नहीं कर रहा था। वह भोजन और पानी के बीच में खड़ा रहा और भूख एवं प्यास के कारण उसकी मृत्यु हो गई। इस प्रसंग को 'बुरिदान (buridan's) का गधा' शीर्षक के साथ एक कहानी के तौर पर सुनाया जाता है।

MORAL OF THE STORY 

कहानी का लव्वोलुआब यह है कि भले ही गधा कितना भी सहनशील हो, उसकी मेमोरी कितनी भी अच्छी हो, बफादार हो, रिश्वतखोर ना हो और वह कितनी भी कठिन परिस्थितियों में यात्रा करने में सक्षम हो परंतु वह डिसीजन लेने में बहुत कमजोर होता है। वह अपनी तरक्की के लिए तो दूर की बात अपने जीवन के लिए भी निर्णय नहीं ले पाता। अपने मालिक पर या फिर परिस्थितियों पर डिपेंड बना रहता है। अपनी स्वतंत्रता का उपयोग नहीं करता। जबकि शेर में कई कमजोरियां होती है फिर भी वह अपनी शक्तियों का प्रयोग करते हुए सत्ता स्थापित कर लेता है। यही कारण है कि इंसान को शेर कहना शान और गधा कहना अपमान माना जाता है। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article

मजेदार जानकारियों से भरे कुछ लेख जो पसंद किए जा रहे हैं

(general knowledge in hindi, gk questions, gk questions in hindi, gk in hindi,  general knowledge questions with answers, gk questions for kids, ) :- यदि आपके पास भी हैं कोई मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here