GWALIOR NEWS- पुलिस से नाराज डिप्टी कमिश्नर ने पोस्ट लिखी

ग्वालियर
। नगर निगम के डिप्टी कमिश्नर अतिबल सिंह यादव ने ग्वालियर पुलिस से नाराज है। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए पुलिस के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने बताया कि उनके बेटे पर जानलेवा हमला हुआ, लूटपाट की गई लेकिन पुलिस ने केवल मारपीट की सामान्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया। श्री यादव ने लिखा कि थाने के कुछ कदमों की दूरी पर यह सब होता रहा और पुलिस को पता नहीं चला। ये कैसी पुलिस है?

घटना 18 जुलाई की रात 11.30 बजे पड़ाव की है। एक दिन पहले जब मामले ने तूल पकड़ा तो मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया। पर लूट अभी तक दर्ज नहीं की है। इसमें पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ा है। पर उन्होंने सिर्फ कार टकराने पर झगड़े की बात कही है। पुलिस जांच कर रही है। 

ग्वालियर नगर निगम डिप्टी कमिश्नर डॉ.अतिबल सिंह यादव के पुत्र वरुण यादव के साथ मारपीट और लूट की वारदात सामने आई है। 18 जुलाई को वरुण अपनी कार से रिश्तेदार के घर से होकर वापस अपने घर आ रहा था। रात 11.30 बजे पड़ाव थाने से कुछ ही दूरी पर उनकी कार के आगे कुछ युवकों ने अपनी कार लगाकर वरुण से उनकी गाड़ी की चाबी छीनने का प्रयास किया। जब वरुण ने कार की चाबी देने से इनकार किया तो उन्हें गाड़ी से उतारकर लोहे की रोड और धारदार हथियार से मारना शुरू कर दिया, जिसमें वरुण गंभीर रूप से घायल होकर बेहोश हो गया।

इसी समय वहां से वरुण की पहचान के कुछ लोग गुजरे तो उन्हें देखकर हमलावर भाग गए। भागने से पहले 12 तौले की सोने की चेन और वरुण का मोबाइल लूट भी ले गए। मारपीट और लूट की वारदात मेन रोड पर करीब आधे घंटे तक चलती है लेकिन पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। वरुण की गंभीर रूप से घायल है। पुलिस ने इस मामले में पहले सिर्फ साधारण मारपीट की FIR दर्ज की थी। 

डिप्टी कमिश्नर की पोस्ट के बाद पुलिस ने धाराएं बढ़ाईं

इसके बाद जब सोशल मीडिया पर डिप्टी कमिश्नर अतिबल सिंह ने पूरी घटना का खुलासा किया और पड़ाव थाना पुलिस को कठघरे में खड़ा किया तो पुलिस ने इस मामले में सोमवार को मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर हत्या के प्रयास का मामला बढ़ाया। साथ ही पुलिस ने लूट में इस्तेमाल किए गए हथियार और उपयोग की गई कार नंबर MP07 CG-5625 बरामद कर ली है। दो लोगों को पकड़ा गया है, पर अभी तक लूट का मामला दर्ज नहीं किया गया है।

यदि परिचित नहीं आते तो लुटेरे हत्या कर देते

डिप्टी कमिश्नर नगर निगम अतिबल सिंह का आरोप है कि पुलिस शुरू से ही मामले को लेकर गंभीर नहीं थी। वरुण की हालत गंभीर है। उसकी जान पहचान वाले वहां से नहीं निकलते तो लुटेरे उसे मार देते थे। थाने के कुछ कदमों की दूरी पर यह सब होता रहा और पुलिस को पता नहीं चला। कैसी पुलिस है यह। बाद में भी लूट का मामला दर्ज नहीं किया है।

पुलिस का कहना
इस मामले में TI पड़ाव विवेक अष्ठाना का कहना है कि मारपीट का मामला था। उसके बाद हत्या के प्रयास की धारा मेडिकल रिपोर्ट पर बढ़ा दी है।

27 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश मानसून- 9 जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी, पूरे प्रदेश में बारिश होगी
MP NEWS- JABALPUR का युवक, 2 मंत्रियों का कथित निजी सचिव, गिरफ्तार
MP BOARD 12th RESULT DATE घोषित, ऐसे चेक करें
MP NEWS- कर्मचारियों के इंक्रीमेंट के संबंध में वित्त विभाग का स्पष्टीकरण
MP NEWS- दुष्कर्म पीड़ित छात्रा का शोषण करने वाले शिक्षक को गुरु पूर्णिमा के दिन 5 साल की जेल 
INDORE NEWS- स्कूल तो खुले लेकिन स्टूडेंट्स नहीं आए
GWALIOR NEWS- ज्योतिरादित्य सिंधिया के OSD कांग्रेस के टारगेट पर, भोपाल से उठा सवाल
EMPLOYEE NEWS- बैन हट गया लेकिन तबादले नहीं हो रहे, कर्मचारी परेशान
MP NEWS- कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने कलेक्टर को निकम्मा, बेवकूफ और... कहा
MP NEWS- चयनित शिक्षकों ने बीजेपी प्रदेश कार्यालय में प्रदर्शन किया
EMPLOYEE NEWS- मप्र में हड़ताली कर्मचारियों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी
 

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiत्रिपुंड का वैज्ञानिक महत्व क्या है, दिखावे के लिए तो नहीं लगाते, यहां पढ़िए 
GK in Hindiहार्ड डिस्क की क्षमता, GB और TB के बाद क्या आता है
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
GK in Hindi₹1 के नोट पर गवर्नर के हस्ताक्षर क्यों नहीं होते हैं 
GK in Hindiइंसान को शेर कहना शान और गधा कहना अपमान क्यों माना जाता है 
GK in Hindi- खतरे का रंग लाल क्यों होता है काला क्यों नहीं
GK in Hindiपुष्पक विमान किस ईंधन से चलता था, पेट्रोल और बैटरी तो उस समय होते नहीं थे
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here