MP के युवक छत्तीसगढ़ में मॉब लिंचिंग का शिकार, 1 की मौत - CRIME NEWS

अमरकंटक। मध्य प्रदेश के युवक की छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले में ग्रामीणों ने पीट-पीटकर जान ले ली। वहीं 5 लोग गंभीर रूप से घायल कर दिए। इन सभी को आरोपियों ने सामुदायिक भवन में बंद कर दिया और दो दिन तक लाठी-डंडों से पीटते रहे। इस मारपीट में जान गंवाने वाला युवक मध्यप्रदेश का रहने वाला था। ये लोग ट्रक में भैंस लेकर दूसरे गांव पहुंचाने जा रहे थे। इस मामले में पुलिस ने जनपद सदस्य और सरपंच समेत 22 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है। गौरेला थाना प्रभारी ने बताया कि मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। आज शाम तक मामले का खुलासा किया जा सकता है।

खैरझिटी निवासी अशोक पनिका ने बुधवार सुबह MP में अमरकंटक के ग्राम मेडाखार निवासी लवकेश से 4 भैंसे साल्हेघोरी गांव के छिरहट्‌टी तक पहुंचाने के लिए 400 रुपए में सौदा किया था। लवकेश अपने साथी विकास के साथ रात करीब 9 बजे छिनपानी गांव से भैंसों को लेकर रवाना हुआ। रास्ते में उन्हें जनपद सदस्य सुखराम मिला और उसने भैंसों के बारे में पूछा। जब उससे रसीद दिखाने को कहा, तो लवकेश ने कहा कि रसीद नहीं है। इसके बाद वह भैंसों को लेकर आगे चला गया।

इसके कुछ ही देर बाद छिरहट्टी घाट के आगे जंगल में जनपद सदस्य सुखराम फिर 10-12 ग्रामीणों के साथ मिला। आरोप है कि उसने इन सभी ने विकास और लवकेश की लात-घूंसों और लाठी-डंडों से पिटाई शुरू कर दी। फिर दोनों को सामुदायिक भवन में ले जाकर पीटा और घरवालों को बुलाने के लिए कहा। इस पर लवकेश ने अपने भाई मुकेश और चाचा सूरत बंजारा को घटना की जानकारी दी और मौके पर आने के लिए कहा।

लवकेश और विकास को आरोपी सामुदायिक भवन के कमरे में बंद कर बाहर से ताला लगाकर चले गए। बताया जा रहा है कि गोविंद बैगा नाम का लड़का वहां रखवाली कर रहा था जो देर रात घर चला गया। उधर तड़के 4 बजे विकास के चाचा सूरत, भाई मुकेश और ओम प्रकाश मौके पर पहुंचे। उन्होंने सामुदायिक भवन के कमरे का ताला तोड़कर दोनों को बाहर निकाला। इसके बाद आरोपी फिर पहुंच गए और सभी को सामुदायिक भवन में ले जाकर डंडों से फिर मारपीट शुरू कर दी। यह सिलसिला सुबह 11 बजे तक चलता रहा।

इस बीच सुबह करीब 7.30-8 बजे डायल 112 की टीम गांव में पहुंची तो सरपंच के कहने पर ग्रामीणों ने लवकेश और उसके परिजन को छिपा दिया। पुलिस के जाने के बाद फिर मारपीट करते हुए भैंसों के बारे में पूछा। जब लवकेश ने अशोक पनिका की भैंसों के बारे में बताया तो उसे भी बुलवाया। वह आया तो फिर सबको पीटा। मारपीट से विकास का चाचा सूरत बेहोश हो गया। फिर दोबारा पुलिस की गाड़ी पहुंची तो आरोपी भाग गए। पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। वहां सूरत की मौत हो गई। अस्पताल में भर्ती सभी घायलों की हालत गंभीर बताई जा रही है।

28 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here