Loading...    
   


SATNA बाजार लॉकडाउन कराने आए SDM पर पथराव, पांच कर्मचारी घायल

सतना
। मध्यप्रदेश के सतना जिले के पवित्र शहर चित्रकूट के व्यापारियों ने लॉकडाउन माननीय से इंकार कर दिया। जब एसडीएम पीएस त्रिपाठी अपनी टीम के साथ बाजार बंद कराने निकले तो उन पर पथराव कर दिया गया। नगर परिषद प्रशासक व एसडीएम पीएस त्रिपाठी, नायब तहसीलदार ऋषि नारायण सिंह, एसडीओपी चित्रकूट जीएस अहिरवार, थाना प्रभारी संतोष तिवारी बाल-बाल बच गए, जबकि SDOP चित्रकूट की गाड़ी समेत नगर पंचायत की कई गाड़ियों के कांच टूट गए। नगर पंचायत के पांच कर्मचारी घायल हो गए। 

अधिकारियों ने यहां-वहां छिपकर जान बचाई

पुलिस का दावा है, अवैध कार्यों में लिप्त लोग लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे थे। शनिवार को इसकी शिकायत मिली थी। ऐसे में रविवार को टीम बनाकर वार्ड क्रमांक 6 खटिकान मोहल्ले में दोपहर 3 बजे दबिश दी गई। जहां शरारती तत्वों ने अधिकारियों को घेर कर पत्थरबाजी शुरू कर दी। इससे भगदड़ मच गई। अधिकारियों ने यहां-वहां छिपकर जान बचाई।

खटीकान मोहल्ला में प्रशासनिक टीम पर हमला

चित्रकूट नगर परिषद के वार्ड क्रमांक 6 के खटीकान मोहल्ले में शनिवार को गाइडलाइन का उल्लंघन किया गया। पुलिस और नगर परिषद की टीम ने दुकान बंद कराने का अनाउंसमेंट किया। इसके बाद भी अंडा दुकानें खुली थीं। साथ ही, लोग चोरी छिपे शराब बिक्री कर रहे थे। खटीकों का समूह चौराहे में भारी संख्या में एकत्र होकर ताश पत्ते खेल रहे थे। ऐसे में अधिकारियों ने दुकान बंद करने के लिए कहा, लेकिन किसी ने नहीं सुना।

पथराव में कौन-कौन से कर्मचारी घायल हुए

इसके बाद रविवार दोपहर एसडीएम, तहसीलदार, एसडीओपी, थाना प्रभारी, नगर पंचायत सीएमओ समेत नपं के एक दर्जन कर्मचारियों के साथ खटीक मोहल्ले पहुंचे। यहां फिर से दुकान बंद करने की अपील की गई, लेकिन सभी ने अनसुना कर दिया। यही नहीं, अधिकारियों को घेर कर पथराव शुरू कर दिया। नगर पंचायत के पांच कर्मचारी राधेश्याम पटेल, संजय यादव, अनुज पटेल, राजेश यादव, छोटू पटेल आदि घायल हो गए। अधिकारियों की गाड़ी के शीशे टूट गए। आनन-फानन में पुलिस ने थाने से बल बुलाया।

नयागांव पुलिस ने इन्हें बनाया आरोपी

पुलिस ने 10 नामजद आरोपियों में श्याम लाल पार्षद, शांति देवी पत्नी श्यामलाल पार्षद, सुनील, धीरेंद्र, विष्णु, राजू,-मनीष, मन्नू, अजय और वीरेंद्र के खिलाफ मामला दर्ज किया है। वहीं 25 अज्ञात पर धारा 147, 149, 353, 332, 336, 337, 188 सार्वजनिक संपत्ति निवारण अधिनियम की धारा 3 के तहत मामला दर्ज किया है। साथ ही गिरफ्तारी के प्रयास पुलिस ने शुरू कर दिए हैं।

12 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here