Loading...    
   


JABALPUR में किसान की हत्या, सरपंच के परिवार पर शक - MP NEWS

जबलपुर।
 मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में चरगवां क्षेत्र के कटोरी गांव निवासी 55 वर्षीय व्यक्ति की सिर पर पत्थर पटक कर हत्या कर दी गई। घायल हालत में देखकर गांव कोटवार ने परिजनों को खबर दी। बेटा पिता को लेकर मेडिकल अस्पताल लेकर पहुंचा, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वारदात की प्रारंभिक वजह रंजिश आई है। 

पुलिस ने गांव के ही एक संदेही को उठाया है। एक बच्चे ने हत्या करते हुए संदेही को देखने का दावा किया है। संदेही आपराधिक प्रवृत्ति का है। पूर्व में कई बार धमकी भी दे चुका था। गांव निवासी प्रीतम पटेल (55) गुरुवार शाम 6.30 बजे घर से गांव में जाने की बात कह कर निकला था। रात करीब पौने दस बजे छोटे बेटे कैलाश पटेल को ग्राम कोटवार ने खबर दी कि उसके पिता लहूलुहान हालत में गांव के रामदयाल के घर के पास पड़े हैं। 

कैलाश के मुताबिक वह पहुंचा तो पिता बेहोशी की हालत में पड़े थे। 108 को कॉल लगाया। उसके आने में देरी हुई, तो प्राइवेट वाहन से पिता को लेकर मेडिकल अस्पताल पहुंचा। यहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। चरगवां टीआई रीतेश पांडे के मुताबिक प्रीतम पटेल की हत्या सिर व माथे पर पत्थर पटक कर की गई है। घटनास्थल से हत्या में प्रयुक्त खून से सना पत्थर जब्त कर लिया गया है। छानबीन जारी है। गांव के लोगों के बयान लिए जा रहे हैं। गांव के कुछ संदेहियों से पूछताछ भी जारी है। हत्या की स्पष्ट कारण सामने नहीं आया है।  

प्रीतम पटेल गांव के सरपंच कृष्ण कुमार पटेल के यहां काम करता था। 10 वर्ष पहले सरपंच कृष्ण कुमार पटेल के भाई लाल साहब पटेल पर गांव के जम्मन पटेल ने जानलेवा वार किया था। मामले में जम्मन के खिलाफ 307 का केस दर्ज हुआ था। जेल से छूटने के बाद उसका गांव में आतंक है। वह कई लोगों के साथ मारपीट और धमकी दे चुका है। जम्मन की सरपंच कृष्ण कुमार पटेल के परिवार से रंजिश है। प्रीतम का सरपंच के घर काम करना उसे गंवारा नहीं था। कई बार उसने प्रीतम को काम छोड़ने के लिए धमकाया भी था।

गांव में दबी जुबान चर्चा है कि जम्मन काे प्रीतम की हत्या करते हुए गांव के बच्चे ने देखा है। उस बच्चे से पुलिस भी पूछताछ कर चुकी है। इसी संदेह पर जम्मन को पुलिस ने हिरासत में लिया है। प्रीतम के बेेटे कैलाश पटेल ने भी उसी पर संदेह जताया है। एफएसएल टीम ने भी मेडिकल पहुंच कर जांच की। प्रीतम पटेल खेती-किसानी करता था। प्रीतम के दो बेटों में बड़ा बेटा शंकर पटेल और छोटा कैलाश भी उसका सहयोग करते थे। एक बेटी रामवती की शादी हो चुकी है। प्रीतम की हत्या के बाद से ही पत्नी मोहनबाई का रो-रो कर बुरा हाल है। वह रह-रहकर बेहोश हो जा रही है।

09 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here