Loading...    
   


MP COVID- नरसिंहपुर 7 जिलों में खतरा, तत्काल सीमाएं सील करने की जरूरत

भोपाल
। मध्य प्रदेश की ओवरऑल पॉजिटिविटी रेट 1% से भी कम हो गई है लेकिन नरसिंहपुर जिले की संक्रमण दर 5% से ज्यादा है। नरसिंहपुर में कोरोनावायरस का संक्रमण कम नहीं हुआ है। यदि इसे पूरे मध्यप्रदेश में फैलने से बचाना है तो नरसिंहपुर की सीमाएं सील कर देने की जरूरत है। WHO की गाइड लाइन के हिसाब से 2.5% से ज्यादा संक्रमण दर होने की स्थिति में उस क्षेत्र में प्रतिबंधित कार्यवाही करना जरूरी है।

नरसिंहपुर के कारण 7 जले सीधे प्रभावित होते हैं

उल्लेखनीय है कि नरसिंहपुर जिला जबलपुर से सीधा जुड़ा हुआ है। हर दिन हजारों लोगों की आवाजाही होती है। जबलपुर शहर भोपाल से जुड़ा हुआ है। हर रोज हजारों लोग जबलपुर से भोपाल आते जाते हैं। इसके अलावा जबलपुर शहर कम से कम 20 जिलो से जुड़ा हुआ है। नरसिंहपुर जिला की सीमाएं सागर से सीधा कनेक्ट करती हैं। नाते रिश्तेदारी भी काफी है। सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार जून के महीने में सागर में कोविड-19 मरीजों की मौत सबसे ज्यादा हुई है। नरसिंहपुर जिला रायसेन, दमोह, सिवनी, होशंगाबाद और छिंदवाड़ा से भी सीधा जुड़ा हुआ है।

संक्रमण की दर प्रशासनिक गतिविधियों का रिजल्ट

किसी भी इलाके में संक्रमण की दर वहां की प्रशासनिक गतिविधियों का रिजल्ट होता है। यदि संक्रमण की दर अधिक है तो प्रशासन फेल, कम है तो प्रशासन पास। लंबे समय तक जीरो है तो प्रशासन टॉपर। आम नागरिकों पर लापरवाही का आरोप नहीं लगा सकते क्योंकि आम नागरिक हमेशा ही लापरवाह होता है। जहां प्रशासनिक बंदोबस्त अच्छे होते हैं वहां नागरिक अनुशासन में रहते हैं।

19 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here