Loading...    
   


MP CORONA- 11 जिले 363 मौतें, सिर्फ 7 जिलों में कमजोर हुआ वायरस

भोपाल
। कोरोनावायरस का कमजोर होना केवल पॉजिटिविटी रेट पर डिपेंड नहीं करता बल्कि मरीजों की मृत्यु दर और एक्टिव केस की संख्या पर भी डिपेंड करता है। दिनांक 1 जून से 17 जून तक 11 जिलों में 363 लोगों की कोविड-19 के कारण मौत हो गई। मध्य प्रदेश में केवल 7 जिले ऐसे हैं जहां पिछले 17 दिनों में कोई मौत नहीं हुई। निष्कर्ष के रूप में कहा जा सकता है कि सिर्फ इन्हीं 7 जिलों में कोरोनावायरस कमजोर हुआ है। शेष जिलों में संक्रमण की दर कम हुई है लेकिन वायरस कमजोर नहीं हुआ।

मध्य प्रदेश के 11 जिलों में जानलेवा बना हुआ है कोरोना वायरस

मध्य प्रदेश के 11 जिलों में कोरोनावायरस अभी भी जानलेवा बना हुआ है। दिनांक 1 जून से 17 जून के बीच सागर में 70 लोगों की मौत हो गई। आंकड़े सरकारी हैं लेकिन सामने आने के बाद बाजीगरी शुरू हो गई है। मजेदार बात यह है कि सागर के सीएमएचओ को याद ही नहीं कि 17 दिनों में कितने लोग मर गए। जबकि उनकी ड्यूटी यही है। इसके अलावा जबलपुर में 42, भोपाल में 38, ग्वालियर में 35, रतलाम में 32, राजगढ़ में 31, बैतूल में 31, रीवा में 31 इंदौर में 31 और आगर मालवा में 22 लोगों की मौत हुई है। यानी इन 11 जिलों में कोविड-19 अभी भी बेहद खतरनाक स्थिति में है। 

मध्य प्रदेश के 8 जिलों में खतरा बरकरार

मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर, शहडोल, सीधी, बालाघाट, मंदसौर, दतिया, डिंडौरी और अलीराजपुर में 17 दिनाें में 1-1 मौतें हुई हैं। यानी इन सभी आठ जिलों में खतरा बरकरार है। यहां संक्रमण की दर कमजोर हुई है लेकिन वायरस कमजोर नहीं हुआ है। वह मरीजों की जान ले रहा है और मरीजों के खून में पूरी ताकत के साथ मौजूद है। कभी भी पॉजिटिविटी रेट बढ़ सकती है।

मध्य प्रदेश के सिर्फ 7 जिलों में वायरस कमजोर 

सरकारी आंकड़ों के हिसाब से निष्कर्ष निकाले तो मध्य प्रदेश के सिर्फ 7 जिले (उज्जैन, नीमच, छतरपुर, सिवनी, छिंदवाड़ा, गुना और खंडवा) ऐसे हैं जहां कहा जा सकता है कि वायरस कमजोर हो गया है। क्योंकि पिछले 17 दिनों में इन जिलों में एक भी मृत्यु नहीं हुई है। सबसे अच्छी बात यह है कि इस लिस्ट में उज्जैन का नाम शामिल है जहां कोरोनावायरस पीड़ित मरीजों की मौत का अनुपात आश्चर्यजनक रूप से सर्वाधिक था। 

19 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here