Loading...    
   


CM ने CORONA के लिए सेना से मदद मांगी, कोर कमांडर और ब्रिगेडियर से मिले - MP NEWS

भोपाल
। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोनावायरस के बढ़ते हुए संक्रमण पर नियंत्रण के लिए भारतीय सेना से मदद मांगी है। इससे पहले मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से फोन पर चर्चा करके मदद मांगी है।

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से बताया गया है कि मध्यप्रदेश में बढ़ते हुये #COVID19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में भारतीय सेना मध्यप्रदेश का सहयोग करेगी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से सुदर्शन चक्र कोर कमांडर श्री अतुल्य सोलंकी और ब्रिगेडियर आशुतोष शुक्ला ने भेंट की। 

आम नागरिकों के लिए सेना के अस्पताल खोल दिए जाएंगे

सैन्य अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि कोरोना संक्रमित रोगियों को सेना के अस्पतालों और आइसोलेशन केंद्रों में स्थान दिया जाएगा। सेना भोपाल में 150, जबलपुर में 100, सागर में 40, और  ग्वालियर में 40 बेड की व्यवस्था करेगी। इसके साथ आगे और स्वास्थ्य व्यवस्था में अपना सहयोग देगी।

मुख्यमंत्री ने रक्षा मंत्री से मदद मांगी थी

श्री चौहान ने कहा राज्य शासन सेना के अस्पतालों में आइसोलेटेड रोगियों के लिए ऑक्सीजन व्यवस्था करवाएगा। सेना के अधिकारियों ने पैरामेडिकल स्टाफ उपलब्ध कराने  के लिए भी आश्वस्त किया। पूर्व में श्री चौहान ने केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजेंद्र सिंह से इस संबंध में चर्चा की थी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारतीय सेना पर हम सभी को गर्व है । संकट के समय में सेना  से किए गए अनुरोध का अच्छा रिस्पांस मिला है। यह सच है कि प्रदेश में संक्रमण बढ़ा है। सरकारी प्रयासों का साथ जन जागरूकता भी बढ़ रही है। आगामी 30 अप्रैल तक मध्य प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लागू है। इसमें जनता भी सहयोग कर रही है।

वरिष्ठ अधिकारी अधिकृत
सेना द्वारा दिए जाने वाले इस सहयोग से संक्रमित रोगियों की बेहतर देखभाल की जा सकेगी। आवश्यक समन्वय के लिए मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री मनीष रस्तोगी और सेना सुदर्शन चक्र भोपाल की ओर से ब्रिगेडियर आशुतोष शुक्ला अधिकृत किए गए हैं।

यह भी युद्ध है
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह भी एक तरह का युद्ध है। हम सभी मिलकर लड़ेंगे और विजय प्राप्त करेंगे। कोर कमांडर सुदर्शन चक्र श्री अतुल्य सोलंकी ने कहा कि मध्य प्रदेश की जनता की समस्या हमारी समस्या है हम इसके समाधान में सहभागी बनेंगे।

19 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here