Loading...    
   


मप्र नवीन शिक्षक संवर्ग को दो माह से वेतन नहीं मिला / EMPLOYEE NEWS

भोपाल। मप्र में नवीन शिक्षक संवर्ग को पिछले दो माह से बजट आवंटन के अभाव में पगार के लाले पड़ गये। आर्थिक रूप से परेशान शिक्षकों पर पारिवारिक परेशानियों के साथ विभिन्न प्रकार की लोन किश्तें बकाया होकर पेनल्टी की मार गरीबी में आटा गीला है। 

मप्र तृतीय वर्ग शास कर्म संघ के प्रांताध्यक्ष प्रमोद तिवारी, प्रांतीय उपाध्यक्ष एवं अध्यक्ष जिला शाखा नीमच-कन्हैयालाल लक्षकार, सचिव-विनोद राठौर ने बताया कि नवीन शिक्षक संवर्ग को आयएफएमएस व्यवस्था के तहत इम्पलाइ कोड से वेतन भुगतान सुनिश्चित करने में व्यावहारिक परेशानियों से दो चार होना पड़ रहा हैं। प्राथमिक शिक्षकों के बजट शीर्ष 4396 मैन्युअल व युनिक ट्रेजरी कोड ज़ारी होने के बाद भी एवं माध्यमिक शिक्षकों के बजट शीर्ष 3491 में मैन्युअल में आबंटन के अभाव में हजारों शिक्षकों को वेतन भुगतान नहीं हो सका है। 

"मप्र तृतीय वर्ग शास कर्म संघ" ने मेडम श्रीमती जय श्री कियावत आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय भोपाल को आज दिनांक-06/07/2020 को पत्र मेल कर निवेदन किया है कि किसी भी प्रकार से तकनीकी बाधा दूर कर बजट उपलब्ध करवाकर नवीन शिक्षक संवर्ग को वेतन भुगतान सुनिश्चित किया जावे। विगत दो माह से बगैर वेतन के शिक्षकों को आर्थिक रूप से कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, यथा शीघ्र संवेदना पूर्वक समाधान की दरकार है।  

07 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

जनता बताइए, मेरी और शिवराज की जोड़ी चाहिए या दिग्विजय और कमलनाथ की: ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूछा
ग्वालियर में 'महाराज' के महल के सामने कमलनाथ कैंप लगाएंगे, उपचुनाव तक वहीं रहेंगे 
रीवा को मंत्री पद नहीं मिला तो क्या एशिया की सबसे बड़ी सौर ऊर्जा परियोजना मिल गई 
एसिड अटैक की कोशिश भी गंभीर अपराध है, पढ़िए और सबको बताइए 
सावन के महीने में 300 साल बाद चमत्कारी दुर्लभ संयोग 
मुख्यमंत्री की कुर्सी में एक पाया थोड़ा बड़ा लगा दिया है 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here