Loading...    
   


SEONI के बाद छिंदवाड़ा का युवक गिरफ्तार, ग्वालियर STF की कार्रवाई - MP NEWS

भोपाल
। रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के मामले में सिवनी के कमलेश्वर प्रसाद दीक्षित को गिरफ्तार करने के बाद उसी के नेटवर्क के दूसरे युवक गणेश कोलोरे को छिंदवाड़ा से गिरफ्तार किया गया है। यह कार्रवाई ग्वालियर की स्पेशल टास्क फोर्स द्वारा की गई है। 

छिंदवाड़ा में रेमडेसिविर रैकेट का टैक्सी ड्राइवर गिरफ्तार

छिंदवाड़ा से मिल रहे समाचारों के अनुसार ग्वालियर एसटीएफ की ओर से एक इंस्पेक्टर और एक सब इंस्पेक्टर सहित टीम छिंदवाड़ा आई थी। सोमवार की देर रात देहात थाना क्षेत्र के कुकडा जगत नई आबादी से गणेश पिता गोसाई कोलोरे 35 वर्ष को गिरफ्तार किया और अपने साथ ग्वालियर ले गई। गणेश एक टैक्सी ड्राइवर है। छिंदवाड़ा पुलिस की ओर से गिरफ्तारी की पुष्टि की गई है परंतु अन्य किसी भी प्रश्न का उत्तर नहीं दिया गया। सूत्रों का कहना है कि गणेश भी उसी पैकेट का हिस्सा है जो पूरे मध्यप्रदेश में इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहे थे। इसमें छिंदवाड़ा की कुछ प्राइवेट हॉस्पिटल भी शामिल है।

GWALIOR STF ने सबसे पहले SEONI के कमलेश्वर प्रसाद को गिरफ्तार किया था

STF ग्वालियर का कहना है कि सिवनी निवासी कमलेश्वर प्रसाद दीक्षित को 8 मई को ग्वालियर रेलवे स्टेशन से पांच रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ पकड़ा था। STF ने एक स्टिंग ऑपरेशन के दौरान मरीज बनकर कमलेश्वर से संपर्क किया और इंजेक्शन की मांग की। 50,000 रुपए में सौदा तय होने के बाद जब कमलेश्वर डिलीवरी देने के लिए ग्वालियर आया तो उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। अब उसी की पूछताछ के आधार पर छापामार कार्रवाई की जा रही है।

11 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here