Loading...    
   


MP CORONA: मीडिया बुलेटिन एवं आज की न्यूज़ हेडलाइंस 15 MAY 2021

भोपाल।
 मध्य प्रदेश स्वास्थ्य विभाग की डेली रिपोर्ट में इन दिनों अच्छे आंकड़े दिखाई दे रहे हैं। आज की सबसे बड़ी खबर यह है कि एक्टिव केस की संख्या एक लाख से कम हो गई है। 11973 मरीज स्वस्थ हो गए लेकिन 7571 नए मरीज मिले हैं। मध्य प्रदेश की ओवरऑल संक्रमण दर 11% रह गई है। सामान्य पॉजिटिविटी रेट 2.5% होता है। चिंता की बात यह है कि 1000 से ज्यादा एक्टिव केस वाले जिलों की संख्या अभी भी 29 बनी हुई है। 

मध्य प्रदेश में सबसे खतरनाक स्थिति वाले जिलों की संख्या 29

इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन, रतलाम, रीवा, सागर, खरगोन, बैतूल, धार, शिवपुरी, सतना, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, शहडोल, सीहोर, कटनी, रायसेन, सीधी, बालाघाट, अनूपपुर, सिंगरौली, राजगढ़, मंदसौर, नीमच, दमोह और उमरिया ऐसे जिले हैं जहां कोरोनावायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 1000 से अधिक चल रही है। इंदौर में 16000, भोपाल 14000, ग्वालियर 8000 और जबलपुर 4000 से अधिक के साथ सबसे खतरनाक स्थिति में है।

मध्य प्रदेश के 7 जिले जहां स्थिति नियंत्रण में है 

बुरहानपुर, भिंड, आगर मालवा, अशोकनगर, अलीराजपुर, खंडवा और छिंदवाड़ा मध्यप्रदेश के ऐसे जिले हैं जहां एक्टिव केस की संख्या 500 से कम है। निश्चित रूप से इन जिलों में कलेक्टर एवं तमाम कोरोना कंट्रोल टीम सफलतापूर्वक काम कर रही है। यह सभी अभिवादन के पात्र हैं।

MADHYA PRADESH COVID19 UPDATE NEWS HEADLINES 15 MAY 2021 

विशेष नोट:- अपने जिले के अस्पतालों में बेड्स की उपलब्धता या कोविड संबंधी अन्य जानकारी एक फोन पर प्राप्त कर सकते हैं। कोविड टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर - 1075 
- इंदौर में नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन के कारण अब तक 8 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। डॉक्टरों की मिलीभगत के चलते हैं ज्यादातर ऐसे लोगों को बेचे गए जिन्हें इंजेक्शन की जरूरत ही नहीं थी।
- मध्यप्रदेश में एक्टिव केस का आंकड़ा एक लाख के नीचे आ गया है। केंद्र सरकार की रिपोर्ट में एक लाख से नीचे आना जरूरी था। 
- कोरोना से मई के 14 दिनों में 1,111 मौतें हो चुकी हैं। इनमें ज्यादातर 45 साल के आसपास के लोग हैं। 
- कोरोना कर्फ्यू में ढील देने के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जिलों से प्रस्ताव मांगे हैं। 
- जबलपुर के गैलेक्सी अस्पताल के मामले में 22 दिन बाद FIR दर्ज की गई। FIR में मैनेजर और ऑपरेटर को आरोपी बनाया गया है लेकिन डायरेक्टर को क्लीन चिट दे दी गई। 
- भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर और रीवा मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस के इलाज के लिए स्पेशल वार्ड बनाए जाएंगे। 
- भोपाल में ब्लैक फंगस के मरीजों से हमीदिया अस्पताल फुल। 
- प्रतिपक्ष कमलनाथ ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बात करके प्रतिबंध खत्म करवा दिया गया। अब श्योपुर मध्य प्रदेश के लोग राजस्थान के अस्पतालों में इलाज करवा पाएंगे। 

MADHYA PRADESH CORONA BULLETIN 15 MAY 2021 DISTRICT WISE STATUS LIST 





15 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here