Loading...    
   


MP EMPLOYEE NEWS: ग्रामीण विकास के कोरोना योद्धा कर्मचारियों का बीमा कराने की मांग

भोपाल
। पंचायत सचिव संगठन के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश शर्मा ने प्रदेश के मुख्यमन्त्री शिवराज सिंह चौहान, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस, ग्रामीण विकास विभाग के  अपर मुख्य सचिव एवम पंचायत कमिश्नर से पत्र लिखकर ग्रामीण विकास विभाग के जमीनी स्तर पर काम करने वाले पंचायत सचिव, जनपद सीईओ, पीसीओ, रोजगार सहायक समेत अन्य अमले का राजस्व विभाग की भांति 50 लाख का बीमा एवम अन्य सुरक्षा प्रदान करने की मांग की है। 

जब राजस्व विभाग ने आदेश कोरोना ड्यूटी के दौरान मृत्यु होने पर 50 लाख रुपये का क्लेम देने और कोरोना योद्धा घोषित करने का आदेश किया तो ग्रामीण विकाश विभाग क्यों सो रहा है, पिछले वर्ष भी हमारे अनेक साथी ड्यूटी के दौरान दिवंगत हुये है फिर यदि वरिष्ठ  विभागीय अधिकारियों को प्रतीत हो रहा है जमीनी अमला कोरोना में योद्धा की तरह नही कर रहे हैं तो हम भी काम बंद करने तैयार है। 

ग्रामीण विकास विभाग 01 सप्ताह विभागीय अमला पंचायत सचिव समेत अन्य कर्मचारियों को कोरोना योद्धा घोषित करे, 50 लाख के बीमा का आदेश जारी करे, अन्यथा हम काम बंद करने के लिए मजबूर रहेंगे। 

दिनेश शर्मा ने मुख्यमन्त्री शिवराज सिंह चौहान समेत प्रदेश की कमान सम्हाल रहे वरिष्ठ अधिकारियों को खुला खत लिखा है,जिसका सारांश इस प्रकार है-

आप भलीभांति जानते हैं मध्यप्रदेश की 70% आबादी ग्रामो में निवास करती है, जहां आपके आहवान पर पंचायत सचिव, जनपद सीईओ, पीसीओ एवम रोजगार सहायककोरोना के खिलाफ लड़ाई में पूरी शिद्दत से जुटे हुए हैं, माननीय प्रदेश के हर ग्राम में मजदूरी सहित अन्य कारणों से प्रदेश के बाहर गए सेकड़ो की संख्या में ग्रामवासी वापिस लौटकर आये हैं, जिनकी जानकारी लगते ही अस्पताल तक लाने, उनका चेकअप कराने, उनके निवास एवम भोजन की समुचित व्यवस्था करने, ग्रामो में सेनेटाइजर का छिड़काव करने, मास्क बांटने, कोरोना वैक्सीन लगवाने, पेंशन और राशन बंटवाने, टोल नांको में दिन एवम रात में ड्यूटी करने का काम पंचायत सचिव एवम रोजगार सहायक आपके आहवान पर कर रहे हैं।

माननीय मैं आपको आस्वस्त करता हूँ कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में प्रदेश के पंचायत सचिव एवम रोजगार सहायक दृढ़ निश्चय करके सरकार और आपके साथ खड़े हैं, हम आपको विस्वास दिलाते हैं हम आपके निर्देशो का सतत पालन करते हुये कर्तव्यनिस्ठा से ग्राम पंचायत स्तर पर काम कर रहे हैं और करते रहेंगे।

माननीय  कोरोना के खिलाफ इस आंदोलन में ड्यूटी के दौरान प्रदेश के पंचायत सचिवों, जनपद सीईओ, पीसीओ एवम रोजगार सहायकों को निम्नलिखित समस्यायों का सामना करना पड़ रहा है, जिनका निराकरण करने का कस्ट करें- 

1. माननीय प्रदेश भर में पंचायत सचिवो, जनपद सीईओ, पीसीओ एवम रोजगार सहायकों से वाट्सअप मेसेज से निर्देशित करके ड्यूटी कराई जा रही हैं, कृपया लिखित ड्यूटी आदेश सक्षम अधिकारी से कराया जाये, जिससे ड्यूटी के दौरान कोई अनहोनी होती है तो संबंधित कर्मचारी के परिवारजन बीमित राशि 50 लाख रुपये के लिए क्लेम कर सकें। 

2. ड्यूटी के दौरान अनहोनी होने पर राज्यशासन द्वारा 50 लाख की क्षतिपूर्ति राशि(बीमा) की पात्रता पंचायत सचिव, जनपद सीईओ,पीसीओ एवम रोजगार सहायक को होने संबंधी स्पस्ट आदेश प्रसारित किए जाएं. 

3. पंचायत सचिवो एवम रोजगार सहायकों के साथ ड्यूटी के दौरान पास नही होने से पुलिस के द्वारा मारपीट की घटनाएं रोज हो रही हैं, अतएव अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के हस्ताक्षर से पूर्व वर्ष की तरह पास जारी करवाएं जाएं। 

4. ग्रामो के ड्यूटी के दौरान उपद्रवियों के द्वारा मारपीट आदि घटनाएं अलग-अलग जगहों पर रोज हो रहीं हैं, ऐसे आरोपियों पर नॉमिनल धाराओं पर प्रकरण बनाकर मामले निपटाए जा रहे हैं, ऐसे आरोपियों पर कठोरतम कार्यवाही की जाए। 

5. एक ही समय मे अनेक काम करवाये जा रहे है, वर्तमान में संक्रमण ग्रामीण क्षेत्रो में भी फैल चुका है इसलिए मनरेगा में अधिक लेबर नही लगवाएं जाएं। 

6. अन्य विभाग के कर्मचारी जो लोकडाउन के कारण घर पर बैठे हैं, उनको भी जिम्मेदारी सौंपी जाएं। 

माननीय उपरोक्त समस्यायों का निराकरण किया जाना अत्यंत आवश्यक है, यदि समय रहते इन समस्याओं का निराकरण नही किया जाता है तब हमें मजबूरन कोरोना के खिलाफ लड़ाई से अपने कदम पीछें खींचने होंगे, जिसके लिए जिम्मेदार शासन-प्रशासन होंगे।

17 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here