Loading...    
   


MAX HOSPITAL की नर्स की लाश मिली, बिस्तर पर डिस्पोजेबल सिरिंज पड़ी थी - GWALIOR NEWS

ग्वालियर।
 मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले मैं पारस विहार कालोनी में किराए के कमरे में रहने वाली नर्स रचना यादव ने गुरुवार की रात को इंजेक्शन लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका मूल रूप से मैनपुरी की रहने वाली है और यहां मैक्स हास्पिटल में नर्स थी। मृतक के कमरे से डिस्पोजल सीरिंज भी पलंग पर पड़ी मिली है। मकान मालिक की सूचना पर झांसी रोड थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। नर्स के आत्महत्या करने का कारण स्वजन के आने के बाद ही पता लग सकेगा।

मैनपुरी यूपी निवासी रचना यादव पारस विहार कालोनी में किराए के कमरे में अपने भाई के साथ रहती थी। रचना मैक्स हास्पिटल में नर्स थी। दो माह पहले ही भाई के साथ किराए से रहने के लिए आई थी। होली पर भाई-बहन घर गए थे। भाई घर पर ही रूक गया, जबकि नौकरी के कारण रचना वापस ग्वालियर आ गई। रात को ड्यूटी से लौटकर कमरे का दरवाजा लगाकर सो गई थी। सुबह दरवाजा नहीं खुलने पर मकान मालिक ने कोई ध्यान नहीं दिया। 

घरवाले शुक्रवार की सुबह से रचना से बात करने के लिए फाेन कर रहे थे, लेकिन उसका काल रिसीव नहीं हो रहा था। भाई ने मकान मालिक को काल कर बताया कि रचना फाेन रिसीव नहीं कर रही है। देखना रचना अब तक सोकर क्यो नहीं उठी है। मकान मालिक ने दरवाजे पर दस्तक दी। कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई। मकान मालिक ने इसकी सूचना झांसी रोड थाना पुलिस को दी। पुलिस की मौजूदगी में कमरे का दरवाजा तोड़ा। रचना बिस्तर पर मृत पड़ी थी। बिस्तर पर ही एक डिस्पोजेबल सीरिंज पड़ी थी। इसलिए आशंका है कि नर्स ने इंजेक्शन लगाकर आत्महत्या की है। रचना इंजेक्शन के जरिए काैन सी दवा ली है, यह तो पीएम रिपोर्ट से ही पता चलेगा। 

पुलिस का अनुमान है कि इंजेक्शन के जरिए नींद का हाइडोज लेकर रचना ने आत्महत्या की है। रचना के आत्महत्या करने की सूचना उसके परिजनों को दे दी है। पुलिस का कहना है कि नर्स के आत्महत्या का कारण परिजनों के यहां आने के बाद लग सकेगा। शुरुआती जांच के बाद रचना के शव को डेड हाउस पहुंचा दिया है। पुलिस घरवालों की मौजूदगी में शव का परीक्षण कराएगी।

वर्जन-
पारस विहार कालोनी में नर्स ने इंजेक्शन लगाकर आत्महत्या कर ली है। नर्स मूलत: मैनपुरी की रहने वाली है। यहां भाई के साथ रहती थी। भाई होली के बाद से नहीं लौटा है। इसलिए युवती के आत्महत्या का कारण घरवालों के आने के बाद ही पता लग सकता है। मृतक का मोबाइल भी लाक है। आत्महत्या का कारण पता लगाने के लिए जांच की जा रही है।

16 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here