Loading...    
   


JABALPUR कारोबारी के किडनैप बेटे की लाश मिली, मौत के बाद सक्रिय हुई सरकार - MP NEWS

जबलपुर
। धनवंतरी नगर से किडनैप किए गए ट्रांसपोर्ट कारोबारी के 13 वर्षीय बेटे की लाश पनागर थाना क्षेत्र के बिछुआ गांव के पास बड़ी नहर में मिली है। अपहरणकर्ताओं ने ₹20000000 की फिरौती मांगी थी। बताया जाता है कि पिछले दिनों डीजीपी जबलपुर आए थे और पुलिस उनके स्वागत सत्कार में लगी थी इसलिए बालक की तलाश गंभीरता पूर्वक नहीं की गई। 

ट्रांसपोर्ट कारोबारी से फिरौती के लिए बार-बार फोन लगा रहे थे अपहरणकर्ता

जानकारी के मुताबिक अपहरणकर्ता बार-बार फोन लगाकर बच्चे के माता-पिता से 2 करोड़ रुपए देने की बात कहते रहे। माता-पिता ने कहा कि उनके पास दो करोड़ रुपए नहीं हैं। आपको किसी ने गलत जानकारी दी है। वहीं यह भी पता चला है कि फिर अपहरणकर्ताओं ने कुछ रियायत करने की भी बात कही थी लेकिन रुपये लेकर ही बच्चे को छोड़ने के लिए अड़े हुए थे।

जबलपुर में बालक की मौत के बाद भोपाल में शिवराज सिंह सरकार सक्रिय हुई

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर में एक नाबालिग की हत्या के मामले में भी कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ऐसे अपराधियों को समाप्त करने के लिए प्रभावी कार्रवाई हो। किसी भी दोषी को न बख्शा जाए। आईजी इंटेलिजेंस आदर्श कटियार ने बताया कि इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। प्रकरण में विस्तृत जांच की जा रही है। इस अवसर पर मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, ओएसडी मुख्यमंत्री कार्यालय मकरंद देउसकर, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री मनीष रस्तोगी, आयुक्त जनसंपर्क डॉ सुदाम खाडे और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

माफिया-मिलावटखोर शिवराज जी के भगवान बने हुए है: कमलनाथ

पूर्व सीएम कमल नाथ ने ट्वीट कर कहा कि मध्य प्रदेश में शराब माफियाओं द्वारा 14 लोगों की जान लेने के बाद अब जबलपुर में अपहरण माफियाओं द्वारा एक मासूम बालक की जान ले ली गई। एक घर का चिराग और बुझ गया। शिवराज सरकार अपहरण माफियाओ से मासूम बालक को वापस नहीं ला सकी। ये माफिया पूरे प्रदेश को लील लेंगे। हमारी सरकार में हमने इन्हें कुचला था लेकिन शिवराज सरकार इनके प्रति प्रेम दिखा रही है, इन्हें बख्शा जा रहा है। पता नहीं क्यों माफिया-मिलावटखोर शिवराज जी के भगवान बने हुए है?

किराना दुकान गया था, उसके बाद आया फिरौती के लिए फोन

धन्वंतरि नगर निवासी 13 वर्षीय बालक अपने घर से गुरुवार दिनांक 15 अक्टूबर 2020 की शाम 6 बजे चिप्स और अन्य सामान लेने किराना दुकान गया था। जहां से उसका अपहरण कर लिया गया। अपहरणकर्ता ने बालक के स्वजन को फोन करके दो करोड़ रुपये की मांग की थी। 

बालक की लाश 3 दिन पुरानी है: पुलिस 

DGP के जबलपुर से जाने और बालक की लाश मिलने के बाद जबलपुर पुलिस सक्रिय हो गई है। फॉरेंसिक एक्सपर्ट बुलाए गए हैं। सभी बड़े पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए। पुलिस का कहना है कि बालक की लाश 3 दिन पर पुरानी है, यानी जब बालक का अपहरण किया गया तभी उसकी हत्या कर दी गई है। लोगों का सवाल यह है कि 3 दिन तक पुलिस क्या करती रही जबकि अपरहण करता बार-बार फोन कर रहे थे यानी उनकी लोकेशन पता करना ज्यादा मुश्किल काम नहीं था।

18 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here