Loading...    
   


13 साल की लड़की 6 माह से रोज रेप करवाने जाती थी, सहेली के कुचक्र में फंसी थी | BHOPAL NEWS

भोपाल। मात्र 13 साल की लड़की के साथ पिछले 6 माह में क्या कुछ नहीं हो गया। उसकी गलती सिर्फ इतनी सी थी कि वो अपनी सहेली के कहने पर नशा करने लगी थी। सहेली ने पहले एक युवक से उसका रेप करवाया फिर हर रोज नशे के बदले रेप करवाया गया। पिछले 6 माह से लड़की हर रोज रेप करवाने जाती थी, ताकि उसके बदले उसे नशा मिल जाए। कई बार तो दिन में कई बार रेप करवाती थी। 

पुलिस के मुताबिक 13 वर्षीय किशोरी निशातपुरा इलाके में रहती है। उसकी मां का निधन हो चुका है, पिता ऑटो चलाते हैं। किशोरी बचपन से ही नानी के पास रह रही है। तीन दिन पहले किशोरी की नानी ने चाइल्ड लाइन को फोन किया था। उन्होंने बताया कि बच्ची नशे की आदी हो चुकी है। वह घर से कहीं चली गई है। तलाश करने पर चाइल्ड लाइन की टीम को बच्ची मिल गई। उसकी काउंसिलिंग में चौकाने वाली जानकारी सामने आई थी। किशोरी ने चाइल्ड लाइन को बताया कि करीब छह माह पहले उसकी सहेली ने उसे नशा करना सिखाया था। इसके बाद लत लगने पर उससे गंदा काम करवाने लगी। उसके साथ कई ड्राइवरों समेत अन्य लोगों ने गलत काम किया।

पुलिस को एक युवक की तलाश 
पुलिस को एक युवक की तलाश है, जिसने सबसे पहले उसके साथ दुष्कर्म किया था। किशोरी को गांजे की सिगरेट पिलाई थी। चाइल्ड लाइन टीम की शिकायत पर जीरो पर निशातपुरा थाने में मामला दर्ज किया गया।

13 घंटे बाद हुआ मेडिकल 
मंगलवार रात करीब 8 बजे किशोरी को सुल्तानिया अस्पताल में मेडिकल कराने पहुंचे। जहां डॉक्टर ने उसके परिजन नहीं होने के कारण मेडिकल करने से इंकार कर दिया। काफी मशक्कत के बाद बुधवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे बच्ची का मेडिकल हो सका। सुल्तानिया अस्पताल की अधीक्षक आईडी चौरसिया ने बताया कि बुधवार सुबह सात बजे जानकारी मिली कि मेडिकल के लिए किशोरी आई है। एसडीएम की अनुमति नहीं होने से विलंब हुआ। इसके बाद मेरे निर्देश पर मेडिकल किया गया।

जीरो पर मामला दर्ज कर केस डायरी निशातपुरा से हनुमानगंज थाने को भेजी जा रही है। चाइल्ड लाइन की काउंसिलिंग में बच्ची के साथ अश्लील कृत्य की जानकारी सामने आई है। 
लोकेश सिंहा, सीएसपी निशातपुरा


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here