Loading...    
   


कैलाश विजयवर्गीय, मेरे पिताजी की चापलूसी के लिए घंटों खड़े रहते थे: सज्जन वर्मा के बेटे ने कहा - INDORE NEWS

इंदौर।
पूर्व मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा द्वारा भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्री कैलाश विजयवर्गीय के संदर्भ में दिए गए बयान (रावण जैसा चेहरा) के जवाब में विधायक आकाश विजयवर्गीय ने काफी कड़वा बयान जारी किया था अब सज्जन सिंह वर्मा के बेटे पवन सिंह वर्मा ने आकाश विजयवर्गीय को जवाब दिया है। बताया है कि किस तरह आकाश विजयवर्गीय के पिता कैलाश विजयवर्गीय, उनके पिता श्री सज्जन सिंह वर्मा की चापलूसी के लिए घंटों खड़े रहते थे।

आकाश बाबा पूरा इंदौर जानता है आप चुनाव कैसे जीते हो: पवन वर्मा

पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के बेटे पवन वर्मा ने कहा जब कैलाश विजयवर्गीय इंदौर के महापौर थे, तब मेरे पिता जी नगरीय प्रशासन मंत्री थे। मेरे पिताजी जब बैटमिंटन खेलने जाते थे तब कैलाश विजयवर्गीय घण्टों मेरे पिता जी के इंतजार में चापलूसी के लिए खड़े रहते थे। मेरे पिता जी के जन्मदिन पर होने वाले कार्यक्रम में कैलाश जी मंच से गाना गाया करते थे, इससे पता चलता है कौन किसकी धूल है। इंदौर की सड़कों के विकास के लिए मेरे पिता जी अपने विभाग करोड़ों रु जारी किए थे। मेरे पिता जी ने अपनी राजनीति की शुरूआत इंदौर विश्वविद्यालय से की थी, उसके बाद पार्षद भी रहे। आकाश बाबू पूरा इंदौर जानता है आप कैसे चुनाव जीते हो। 

मेरे पिताजी सज्जन है लेकिन सिंह भी है, तुम आकाश हो तो मैं पवन हूं

पवन यहां भी न रूके उन्होंने कहा महाकाल के भक्त बनते हो, लेकिन उज्जैन में सिंहस्थ घोटाला किसने किया ये भी सब जानते हैं। इंदौर आज भी सज्जनों का शहर है घोटालेबाजों का नहीं। मेरे पिताजी भले ही सज्जन हैं लेकिन उनके नाम के साथ सिंह चलता है, और तुम अगर आकाश हो तो मैं भी पवन हूँ।

कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय ने सज्जन सिंह वर्मा के बारे में क्या कहा था

आकाश विजयवर्गीय ने सज्जन सिंह वर्मा से कहा कि इंदौर से चुनाव लड़के दिखाओ, उन्हें उनकी औकात पता चल जाएगी। आकाश विजयवर्गीय इससे पहले एक कर्मचारी को बल्ले से पीटने के बाद विवादों में आ गए थे और अब उन्होंने वीडियो जारी कर कहा है कि सज्जन सिहं वर्मा ने पिछले चुनाव में पूरे खानदान को उनके खिलाफ लगा दिया था। लेकिन फिर भी चुनाव नहीं जीत पाए थे, इसके साथ ही उन्होंने सज्जन सिंह वर्मा को इंदौर से चुनाव लड़ने की चुनौती दे डाली है।

20 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here