Loading...    
   


BHOPAL शिव मंदिर में नवजात लड़की की खून से लथपथ लाश मामले में खुलासा - MP NEWS

भोपाल।
राजधानी भोपाल के अयोध्या नगर स्थित शिव मंदिर में नवजात लड़की की खून से लथपथ लाश के मामले में पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में एक दंपति को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि गिरफ्तार दंपति की 19 वर्षीय बेटी के अवैध संबंध के परिणाम स्वरूप नवजात लड़की का जन्म हुआ था, इसलिए दोनों ने नवजात बच्ची को ब्लेड एवं चाकू से दर्जनों कट लगाकर पूरा खून निकाल दिया और फिर उसका शव मंदिर में रख गए। 

नवजात लड़की की कटी-पिटी लाश, मंदिर परिसर में पुलिस के लिए चुनौती थी

दिनांक 28 सितंबर 2020 की सुबह 6:00 बजे अयोध्या नगर पुलिस को सूचना मिली कि अयोध्या नगर केजी सेक्टर में स्थित शिव मंदिर परिसर में खून से लथपथ नवजात शिशु का शव रखा हुआ है। पुलिस कार्रवाई में पता चला कि नवजात लड़की की बड़ी ही निर्ममता के साथ हत्या की गई है। उसके शरीर में दर्जनों घाव थे। जगह-जगह ब्लेड और चाकू से काटा गया था। नवजात शिशु की इतनी जघन्य हत्या और लाश को मंदिर में रखना मामले को काफी संवेदनशील बना गया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस एवं प्रशासन ने संयुक्त रूप से अभियान चलाया। आंगनवाड़ी एवं आशा कार्यकर्ता, अस्पतालों की ANM आदि की मदद से जानकारी जुटाई गई और आरोपियों तक पहुंच गए। 

अवैध संबंध के कारण लड़की गर्भवती हो गई थी, घर में प्रसव कराकर नवजात का कतरा-कतरा खून बहाया

पुलिस ने अयोध्या नगर के एन सेक्टर में स्थित झुग्गी में रहने वाले विद्या भाई और उसके पति पूरन सिंह अहिरवार को गिरफ्तार किया है। अयोध्या नगर पुलिस का दावा है कि गिरफ्तार दंपति की 19 वर्षीय बेटी अवैध संबंध के कारण गर्भवती हो गई थी। छठे महीने में इन्हें अवैध संबंधों की जानकारी हुई। इसलिए इन्होंने बच्चे का जन्म होने दिया। विद्या बाई, दाई का काम जानती थी। घर में ही अपनी बेटी का प्रसव कराया और नवजात लड़की को चाकू एवं ब्लेड से काट कर उसके शरीर का पूरा खून बहा दिया। बाद में पूरन सिंह शॉल में लपेट कर नवजात लड़की के शव को शिव मंदिर के चबूतरे पर रख आया था।

03 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here