Loading...    
   


जहरीले सेब का पेड़, मुंह में रखते ही मौत, क्या आप जानते हैं, कैसा दिखता है, कहां पाया जाता है, कितना खतरनाक है, पूरी जानकारी - GK IN HINDI

कहा जाता है कि 'an apple in a day keeps the doctor away' यानी, यदि आप हर रोज एक से फल खाते हैं तो आपको डॉक्टर की जरूरत नहीं पड़ेगी लेकिन दुनिया में एक सेबफल ऐसा भी है यदि आपने इसका एक छोटा सा टुकड़ा भी खा लिया तो मौत सुनिश्चित है। यहां तक कि कई लोग तो इस फल के टुकड़े को मुंह में रखने के बाद और निगलने से पहले मर गए।

मंचीनील ट्री (जहरीला सेब, जहरीला अमरुद का पेड़) की खास बातें 

इस पेड़ का फल ग्रीन एप्पल या अमरुद जैसा दिखाई देता है। इसलिए इसे जहरीला सेब या जहरीला अमरूद भी कहा जाता है। 
इसे ' little apple of death '  भी कहा जाता है  क्यौकि इसमें फोरबाल ( Phorbol) नाम का प्राकृतिक एवं कार्बनिक जहर पाया जाता है।
पेड़ का सबसे जहरीला भाग होता है इसका फल। फल इतना जहरीला होता है कि यदि उसका छोटा सा टुकड़ा भी कोई खा जाए तो उसकी मौत सुनिश्चित है।
गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में यह पेड़ दुनिया के सबसे जहरीले पेड़ के रूप में दर्ज है।
इस पेड़ के तने से जो लिक्विड निकलता है, वह इतना जहरीला होता है कि यदि आपकी त्वचा के संपर्क में आ जाए तो छाले पड़ जाएंगे।
मंचीनील ट्री की सूखी लकड़ियां जलाने पर काफी जहरीला धुआं निकलता है। यह धुआं कई लोगों को अंधा करने के लिए पर्याप्त है। यदि आप थोड़ी दूर हैं या अपने आप को जल्दी से सुरक्षित कर लेते हैं तब भी आपकी आंखों में तेज जलन की गारंटी है।
मंचीनील का पेड़ मध्य अमेरिका, कैरिबियाई द्वीप, दक्षिण अमेरिका के उत्तरी भागों और दक्षिणी फ्लोरिडा समेत उत्तरी अमेरिका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाया जाता है।
स्थानीय पारितंत्र में यह पेड़ काफी अहम भूमिका निभाता है। यह दक्षिण अमेरिका के बीचों पर तटीय अपरदन (समुद्र के किनारों को टूटने से बचाना) को रोकने में सहायक है। 
कैरिबियाई कारपेंटर इसका इस्तेमाल सदियों से फर्नीचर में भी कर रहे हैं। 

मंचीनील ट्री के जहर का शिकार, किसी भी स्थिति में बच नहीं सकता

सन 1999 में निकोला स्ट्रिकलैंड नाम की एक वैज्ञानिक अपनी एक दोस्त के साथ कैरिबियाई द्वीप टबैगो घूमने गई थीं। वहां जब बीच पर वह टहल रही थीं तो उनको एक हरा फल दिखा जो सेब जैसा दिख रहा था। फल से बहुत ही मीठी सुगंध आ रही थी। उन्होंने फल को चखने का फैसला किया और एक छोटा टुकड़ा खाया। पल भर के अंदर ही उनकी सारी खुशियां गम में तब्दील हो गईं। उनको जलन सी महसूस होने लगी और गला जाम सा होने लगा। उनकी इतनी हालत बुरी हो गई कि फल को निगला तक नहीं जा रहा था। क्योंकि उन्होंने फल को निगला नहीं था और समय रहते उनको उपचार मिल गया। इसलिए उनकी जिंदगी बच गई लेकिन सिर्फ फल को मुंह में रख लेने के कारण उन्हें वापस सामान्य होने में 8 घंटे और 4 से ज्यादा डॉक्टर लगे।

हम वचनबद्ध है, बकवास ब्रेकिंग के बजाय अच्छी जानकारी देते रहेंगे

कुछ दशकों पहले तक जब इंटरनेट ने लोगों की जिंदगी को आसान नहीं किया था और इंटरनेट पर एंटरटेनमेंट जैसी कोई चीज नहीं थी तब लोग वनस्पति के बारे में काफी जानकारी रखते थे, और इंटरनेट पर सर्च किया करते थे परंतु जब से इंटरनेट, एंटरटेनमेंट में बदल गया है तब से नॉलेज की बातें थोड़ी कम हो गई है। परंतु हम वचनबद्ध है कि आपको किसी बकवास ब्रेकिंग के बजाय अच्छी जानकारी नियमित रूप से देते रहेंगे और इसके लिए 'नो नेगेटिव मंडे' जैसा ड्रामा नहीं होगा बल्कि सप्ताह के सभी 7 दिन नॉलेज की बात होती है। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article (current affairs in hindi, gk question in hindi, current affairs 2019 in hindi, current affairs 2018 in hindi, today current affairs in hindi, general knowledge in hindi, gk ke question, gktoday in hindi, gk question answer in hindi,)


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here