Loading...    
   


MP CORONA: 77323 में से 1609 की मौत, 17205 जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं - UPDATE NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में आज दिनांक तक 77323 नागरिक कोरोनावायरस (कोविड-19) महामारी का शिकार हुए जिनमें से 1609 लोगों की मौत हो गई जबकि 17205 लोग अस्पतालों में भर्ती जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार संतुष्ट है क्योंकि भारत के कुछ राज्यों में मरने वालों की संख्या इससे ज्यादा है परंतु बड़ा सवाल यह है कि क्या महामारी के कारण 1609 लोगों की मौत दुखदाई नहीं है। 

MADHYA PRADESH CORONA BULLETIN 08 SEPTEMBER 2020

संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं, मध्य प्रदेश द्वारा जारी कोरोनावायरस मीडिया बुलेटिन दिनांक 08 सितंबर 2020 (शाम 6:00 बजे तक) के अनुसार पिछले 24 घंटे में:- 
22597 सैंपल की जांच की गई।
176 सैंपल रिजेक्ट हो गए।
20733 सैंपल नेगेटिव पाए गए।
1864 सैंपल पॉजिटिव पाए गए।
20 मरीजों की मौत हो गई।
1600 मरीज डिस्चार्ज किए गए।
मध्यप्रदेश में संक्रमित नागरिकों की कुल संख्या 77323 
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 1609 
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से स्वस्थ हुए नागरिकों की संख्या 58509 
08 सितंबर 2020 को संक्रमित नागरिकों की संख्या 17205 
08 सितंबर 2020 को मध्यप्रदेश में संक्रमित इलाकों की संख्या 6189 

mp corona status today and update 

सरकार संतुष्ट है कि मृत्यु दर कम हुई है परंतु मौतों का सिलसिला लगातार जारी है। आज भी 20 नागरिकों को महामारी के कारण अकाल मृत्यु का शिकार होना पड़ा। 
सरकार ने संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी प्रयास बंद कर दिए हैं। जांच फ्री होगी लेकिन सैंपल देने के लिए व्यक्ति को खुद सरकारी सेंटर के पास जाना पड़ेगा। इस फैसले से संक्रमित नागरिकों की संख्या सरकारी रिपोर्ट में तो कम हो जाएगी परंतु मध्यप्रदेश में संक्रमण बढ़ने की काफी संभावना है। 
मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं विधायक एनपी प्रजापति महामारी का शिकार हो गए। 
मध्यप्रदेश में जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बावजूद मरीजों को ना तो आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया जा रहा है और ना ही होम आइसोलेशन के लिए पहले की तरह सरकारी टीम घर आ रही है। मरीजों के जनता के बीच खुला घूमने की खबरें लगातार मिल रही है। 
आज की रिपोर्ट में भी पॉजिटिविटी रेट 8% से अधिक था। सरकार अस्पतालों में और ज्यादा बेड उपलब्ध कराने की तैयारी कर रही है। सवाल यह है कि क्या इससे संक्रमण खत्म हो जाएगा। 
सार्वजनिक स्थानों का सैनिटाइजेशन एकमात्र विकल्प है जिसका उपयोग बंद कर दिया गया है।



08 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here