Loading...    
   


कंपार्टमेंट परीक्षा निरस्त करने में क्या परेशानी है: सुप्रीम कोर्ट ने CBSE से पूछा / EDUCATION NEWS

NEW DELHI. CBSE- सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) की सितंबर के आखिरी सप्ताह में होने वाले compartment exam निरस्त करने के संबंध में छात्रों की petition पर सुप्रीम कोर्ट ने central Board of Secondary Education से जवाब मांगा है। पूछा है कि कंपार्टमेंट परीक्षा क्यों निरस्त नहीं की जा सकती। अगली सुनवाई 10 सितंबर को होगी। 

कोरोना महामारी के दौरान कंपार्टमेंट परीक्षा देने से छात्रों को जान का जोखिम उठाना होगा। यह संविधान में दिए गए समानता और जीवन के अधिकार का उल्लंघन है। अगर परीक्षाएं आगे बढ़ाई जाती हैं तो छात्रों का एक साल बर्बाद हो जाएगा। ऐसे में या तो exam cancel कर दी जाएं या छात्रों को फिलहाल प्रोविजनली पास कर दिया जाए। इस तर्क के आधार पर कानपुर के आरएस पुरम निवासी अधिवक्ता शक्ति पांडे ने सीबीएसई के जुलाई में आए परीक्षा परिणाम में फेल हुए लगभग दो लाख दस हजार छात्रों की ओर से सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की थी। 

सीबीएसई की ओर से तर्क रखा गया कि सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। परीक्षाकेंद्रों की संख्या पांच सौ से बढ़ाकर 1200 कर दी गई है। परीक्षा का कार्यक्रम भी तैयार हो चुका है।

07 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

वेटिकन सिटी में बच्चे पैदा क्यों नहीं होते?
BF ने GF से कैंसर पीड़ित पिता के लिए खून बदले आबरू ले ली
यदि ब्रांच मैनेजर BANK ACCOUNT CLOSE करने से मना कर दे तो क्या करें
MADHYA PRADESH में नई शिक्षा नीति के तहत नया शिक्षा सत्र कब से शुरू होगा, क्या खास होगा
पत्नी को परीक्षा दिलाने स्कूटी से ग्वालियर आये थे फ्लाइट से जाएंगे झारखंड वाले धनंजय कुमार
SHALBY HOSPITAL ने आधी रात में भर्ती अधिकारी को बाहर निकाला, मौत
मध्य प्रदेश मौसम: 18 जिलों में बारिश होगी, 12 में धूप खेलेगी, 7 जिलों में बूंदाबांदी
BHOPAL में SBI के ATM में घुसे चोर, हैदराबाद में बजा अलार्म
BHOPAL NEWS: महिला ग्राहक को पुरुष ट्रायल रूम में भेज दिया फिर ताक-झांक करने लगा
BHOPAL-INDORE चार्टर्ड बस सेवा शुरू, कितने यात्री जाएंगे, किराया कितना होगा पढ़िए
यदि रेल की पटरी में करंट का तार लगा दें तो क्या होगा
कूलर की मोटर जाम क्यों हो जाती है, जबकि पंखे की सालों-साल चलती है
मंत्री नरेंद्र तोमर को महिलाओं ने घेरा, बोलीं: चलो हमारे साथ, दलदल बन गई सड़क पर चलकर दिखाओ
MADHYA PRADESH के स्कूलों में 5+3+3+4 पाठ्यक्रम को लागू किया जायेगा
ग्वालियर नगर निगम में नामांतरण विज्ञापन के नाम पर 30 लाख का गबन
JABALPUR- INDORE से 4 प्रमुख ट्रेनों शुरू करने की मंजूरी मिली
JABALPUR से 6 सितंबर से चलने वाली ट्रेनों का टाइम-टेबल जारी
AFTER CORONA: ग्वालियर में 40% लोग नई बीमारी का शिकार
GWALIOR में सोने-चांदी की परख रखने वाले व्यापारी इंसान पहचानने में चूक गए, 1.5 करोड़ का चूना लग गया
कूलर की मोटर जाम क्यों हो जाती है, जबकि पंखे की सालों-साल चलती है
संविदा कर्मचारी का ट्रांसफर नहीं किया जा सकता: हाईकोर्ट ने आदेश पर स्टे लगाया
MADHYA PRADESH की ग्राम पंचायतों के लिए 996 करोड़ रुपए ट्रांसफर


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here