Loading...    
   


BHOPAL का हनीट्रैप मामला: डॉ. मरावी की अग्रिम जमानत पर कोर्ट ने फैसला सुनाया - MP NEWS

भोपाल। राजधानी भोपाल में हनीट्रैप मामले में हमीदिया अस्पताल के पूर्व अधीक्षक डॉ. दीपक मरावी की पुलिस गिरफ्तारी से बचने की पहली कोशिश नाकाम हो गई है। जिला कोर्ट ने उनकी अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज कर दी है। अब उन्होंने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए याचिका लगाई है। हनीट्रैप मामले में आठ दिन से फरार मरावी की तलाश में क्राइम ब्रांच ने अब भोपाल के अलावा आसपास के जिलों में भी तलाश शुरू कर दी है। इधर, इस मामले में रिपोर्टर बनी दो महिलाओं से एक महिला और उसका पति भी गायब हो गए हैं। 

मरावी के अवधपुरी घर पर उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं। उन्होंने क्राइम ब्रांच को बताया कि उन्हें डॉक्टर साहब के बारे में कुछ पता नहीं है। वे घर पर भी नहीं आ रहे हैं। उनका मोबाइल फोन भी बंद आ रहा है। डॉक्टर मरावी का ईदगाह हिल्स स्थित क्लीनिक भी बंद है। क्राइम ब्रांच के अनुसार इस मामले में न्यूज चैनल की आरोपी बनी दो महिला रिपोर्टर में से एक महिला भी गायब हो गई है। उसके घर पर ताला पड़ा हुआ है। नगर निगम में नौकरी करने वाला महिला का पति भी गायब है। वह नौकरी भी नहीं जा रहा है।

राजधानी भोपाल में हनीट्रैप मामले में हमीदिया अस्पताल के पूर्व अधीक्षक डॉक्टर दीपक मरावी फंसे हैं। उन पर एक लड़की ने क्लीनिक में बुलाकर छेड़छाड़ करने की शिकायत की थी। पुलिस इस मामले में केस दर्ज कर जांच कर रही है। वहीं, केस का दूसरा एंगल ये है कि पूर्व अधीक्षक डॉ. मरावी ने भी पुलिस से 50 लाख रुपए को लेकर ब्लैकमेलिंग करने की शिकायत की थी। मामले में क्राइम ब्रांच ने 2 लड़कियों समेत 5 लोगों को आरोपी बनाकर केस दर्ज किया था। पुलिस मरावी की शिकायत पर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

08 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here