Loading...    
   


KANGANA RANAUT पर शिवसेना का कानूनी डंडा, वाई श्रेणी की सुरक्षा काम नहीं आई - BOLLYWOOD NEWS

मुंबई।
महाराष्ट्र की सत्तारूढ़ पार्टी शिवसेना से सीधी टक्कर ले रही कंगना रनौत को जैसे ही वाई श्रेणी की सरकारी सुरक्षा प्राप्त हुई मुंबई में शिवसेना ने बयान बाजी बंद करके कंगना रनौत पर कानूनी डंडा चलाना शुरु कर दिया। बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन की टीम ने कंगना रनौत के प्रोडक्शन हाउस के ऑफिस में छापामार कार्यवाही की। इस कार्रवाई के बाद कंगना रनौत अंदर तक हिल गई। यह ऑफिस कंगना रनौत का सपना है जिसे 15 साल की मेहनत के बाद तैयार किया गया था। कंगना रनौत का कहना है कि वह लोग मंगलवार को मेरा सपना तोड़ देंगे।

मेरा सपना जिसे 15 साल मेहनत करके कमाया था, टूटने का वक्त आ गया है: कंगना राणावत

कंगना राणावत ने खुद इसकी जानकारी सोशल मीडिया के जरिए दी है। कंगना ने पहले अपने ऑफिस का वीडियो शेयर किया और लिखा, 'ये मुंबई में मणिकर्णिका फिल्म्स का ऑफिस है, जिसे मैंने 15 साल मेहनत करके कमाया है, मेरा जिंदगी में एक ही सपना था मैं जब भी फिल्म निर्माता बनूं मेरा अपना खुद का ऑफिस हो, मगर लगता है ये सपना टूटने का वक्त आ गया है, आज वहां अचानक बीएमसी के लोग आए।' 

बीएमसी के लोग कल मेरी प्रॉपर्टी दोस्त कर देंगे: कंगना रनौत

शिवसेना से सीधी टक्कर ले रही कंगना रनौत ने फिर दूसरा वीडियो शेयर किया जिसमें बीएमसी के लोग कंगना के ऑफिस में सबकुछ नाप रहे हैं। इस वीडियो को शेयर करते हुए कंगना ने लिखा, 'वे जबरदस्ती मेरे ऑफिस में घुस गए और सबकुछ नापने लगे। जब मेरे पड़ोसियों ने आपत्ति जताई तो उन्हें भी परेशान किया। अधिकारियों की भाषा कुछ इस तरह थी, वो जो मैडम है उसकी करतूत का परिणाम सबको भरना होगा। मुझे सूचित किया गया कि वे कल मेरी संपत्ति को ध्वस्त कर रहे हैं।'

बीएमसी ने बिना किसी नोटिस के मेरे ऑफिस में रेड मारी: कंगना रनौत

कंगना ने तीसरा ट्वीट किया, 'मेरे पास सभी कागज हैं और बीएमसी की परमिशन भी। मैंने अपनी प्रॉपर्टी में कुछ भी गैरकानूनी नहीं किया है। बीएमसी को स्ट्रक्चर प्लान भेजना चाहिए यह दिखाने के लिए कहां गैरकानूनी कंस्ट्रक्शन हुआ है, वो भी नोटिस के साथ। लेकिन उन्होंने आज मेरे ऑफिस पर रेड मारी बिना किसी नोटिस के और कल वह सब कुछ ध्वस्त कर देंगे।'

07 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

वेटिकन सिटी में बच्चे पैदा क्यों नहीं होते?
BF ने GF से कैंसर पीड़ित पिता के लिए खून बदले आबरू ले ली
यदि ब्रांच मैनेजर BANK ACCOUNT CLOSE करने से मना कर दे तो क्या करें
MADHYA PRADESH में नई शिक्षा नीति के तहत नया शिक्षा सत्र कब से शुरू होगा, क्या खास होगा
पत्नी को परीक्षा दिलाने स्कूटी से ग्वालियर आये थे फ्लाइट से जाएंगे झारखंड वाले धनंजय कुमार
SHALBY HOSPITAL ने आधी रात में भर्ती अधिकारी को बाहर निकाला, मौत
मध्य प्रदेश मौसम: 18 जिलों में बारिश होगी, 12 में धूप खेलेगी, 7 जिलों में बूंदाबांदी
BHOPAL में SBI के ATM में घुसे चोर, हैदराबाद में बजा अलार्म
BHOPAL NEWS: महिला ग्राहक को पुरुष ट्रायल रूम में भेज दिया फिर ताक-झांक करने लगा
BHOPAL-INDORE चार्टर्ड बस सेवा शुरू, कितने यात्री जाएंगे, किराया कितना होगा पढ़िए
यदि रेल की पटरी में करंट का तार लगा दें तो क्या होगा
कूलर की मोटर जाम क्यों हो जाती है, जबकि पंखे की सालों-साल चलती है
मंत्री नरेंद्र तोमर को महिलाओं ने घेरा, बोलीं: चलो हमारे साथ, दलदल बन गई सड़क पर चलकर दिखाओ
MADHYA PRADESH के स्कूलों में 5+3+3+4 पाठ्यक्रम को लागू किया जायेगा
ग्वालियर नगर निगम में नामांतरण विज्ञापन के नाम पर 30 लाख का गबन
JABALPUR- INDORE से 4 प्रमुख ट्रेनों शुरू करने की मंजूरी मिली
JABALPUR से 6 सितंबर से चलने वाली ट्रेनों का टाइम-टेबल जारी
AFTER CORONA: ग्वालियर में 40% लोग नई बीमारी का शिकार
GWALIOR में सोने-चांदी की परख रखने वाले व्यापारी इंसान पहचानने में चूक गए, 1.5 करोड़ का चूना लग गया
कूलर की मोटर जाम क्यों हो जाती है, जबकि पंखे की सालों-साल चलती है
संविदा कर्मचारी का ट्रांसफर नहीं किया जा सकता: हाईकोर्ट ने आदेश पर स्टे लगाया
MADHYA PRADESH की ग्राम पंचायतों के लिए 996 करोड़ रुपए ट्रांसफर


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here