Loading...    
   


DAMOH में युवक ने पत्नी, ससुर और साली को चाकू से गोदा , 2 की मौत - MP CRIME NEWS

दमोह।
 मध्य हटा थाना क्षेत्र के सनकुईया गांव में ससुराल आकर दामाद ने अपने ससुर, साली और पत्नी पर चाकू से हमला कर दिया, जिसमें ससुर और साली की मौत हो गई, जबकि पत्नी की हालत गंभीर बनी हुई है। घटना मंगलवार की रात 12 बजे की बताई जा रही है। घटना के बाद पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से घायलों को हटा अस्पताल पहुंचाया। जहां पर ससुर और साली को मृत घोषित किया गया। पुलिस ने देर रात आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि शादी के बाद एक साल से पत्नी ससुराल नहीं जा रही थी, जिससे पति और ससुराल पक्ष के लोगों के बीच विवाद चल रहा था।

पुलिस ने बताया कि पन्ना जिले के सिमरिया थाने के कोनी ग्राम निवासी बुठिया अहिरवार 25 का विवाह सनकुइया गांव निवासी द्रोपदी से एक साल पहले हुआ था। विदाई के बाद पत्नी ससुराल गई और जब लौटकर मायके आई तो दोबारा नहीं गई। इस बात को लेकर पति और ससुराल पक्ष के बीच में विवाद चल रहा था। बुठिया बीती रात अपने गांव से ससुराल सनकुइया पहुंचा और मौका पाकर उसने ससुर मुन्नीलाल 40, साली अनिता 16 और पत्नी द्रोपदी 22 पर चाकू से हमला कर दिया। पुलिस ने आरोपी बुठिया को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त चाकू भी जब्त कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक आरोपी बुठिया की शादी सनकुइया ग्राम में मुन्नी अहिरवार की बेटी द्रोपदी से एक साल पूर्व 21 अप्रैल 2019 में हुई थी। द्रोपदी अपने मायके आ गई, उसे ससुराल का माहौल पसंद न आने के कारण उसने जाने से इंकार कर दिया और अपने मायके सनकुईया में ही रहने लगी। जिसके पीछे पति बुठिया का सनकी स्वभाव बताया गया। तभी से दोनों पक्षों का विवाद चल रहा था। मंगलवार को घटना के दिन सायं काल ही बुठिया ससुराल सनकुइयां आ गया था, रात 9 बजे ससुराल पहुंचा और घात लगाकर साथ में लाए चाकू से पहले मुन्नीलाल पर हमला किया। हमले की आहट सुनकर पहुंची साली अनिता पर हमला किया और फिर अपनी पत्नी पर चाकू से हमला कर फरार हो गया।

घटना के दौरान दो छोटे-छोटे बच्चे भी घटनास्थल पर थे, मगर आरोपी ने करंट फैलने की बात कहकर अंधेरा कर दिया और बच्चों को भगा दिया। आरोपी के भागने के बाद बच्चों ने ही घटना की सूचना पड़ोसियों को दी। एसपी हेमंत चौहान ने घटना स्थल का जायजा लिया। हैरानी की बात यह है कि आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद गैसाबाद से सिमरिया पैदल जाते समय ही पुलिस पार्टी के हत्थे चढ़ गया। उसके साले की निशानदेही पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की पत्नी द्रोपदी दमोह जिला अस्पताल में जीवन मौत से संघर्ष कर रही है। द्रोपदी की मां दिल्ली में  एक बेटी के साथ मजदूरी करती हैं।

द्रोपदी के दो भाई शुभम 12 और सत्यम 9 हैं। इधर एसडीओपी नीतेश पटेल ने हटा पुलिस थाने में आरोपी की गिरफ्तारी का खुलासा किया। बताते हैं कि इससे पहले ससुर मुन्‍नी लाल अहिरवार ने हटा थाने एवं पुलिस के उच्चाधिकारियों को 20 अगस्‍त को एक लिखित में शिकायत की थी, जिसमें बताया था कि मेरा दामाद 50 हजार रुपए की मांग एवं मारपीट व जान से मारने की धमकी दे रहा है, इस शिकायत को पुलिस फाइल में समेटकर रख दिया और इतनी बड़ी घटना घटित हो गई। यदि पुलिस तभी सक्रिय हो जाती तो इतनी बड़ी वारदात नहीं होती।

24 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here