Loading...    
   


अतिथि विद्वानों को जल्द ही खुश खबरी मिलेगी: ज्योतिरादित्य सिंधिया / MP NEWS

भोपाल
। आज एकदिवसीय उज्जैन दौरे पर आए राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अतिथि विद्वानों के बहुचर्चित नियमितीकरण मुद्दे पर मिले अतिथि विद्वानों के प्रतिनिधि मंडल से कहा कि महाविद्यालयीन अतिथि विद्वानों का निमितिकरण हमारी सरकार की प्राथमिकता में शामिल है और जल्दी ही आप सबको खुश खबरी मिलेगी।

जैसा कि सर्वविदित है कि अतिथि विद्वानों के नियमितीकरण मुद्दे पर ही भारतीय जनता पार्टी की सरकार मध्य प्रदेश में बनी है और सिंधिया जी विपक्ष में रहते तत्कालिक कमलनाथ सरकार को बोला था कि अतिथि विद्वानों का नियमितीकरण करो नहीं तो हम इनके साथ सड़क पर उतर जाएंगे और कांग्रेस सरकार देरी कर रही थी नियमितीकरण में इसी बीच सिंधिया जी अतिथि विद्वानों के लिए सड़क पर उतरे और पूरी कांग्रेस सरकार धराशाही हो गई।

संघ के अध्यक्ष वा मोर्चा के संयोजक ड्रा देवराज सिंह ने बताया कि आज हमारा प्रतिनिधि मंडल ड्रा मनीष प्रजापति,ड्रा सुनीता शोलांकी,ड्रा नीता तोमर वा ड्रा संदीप के नेतृत्व में सैकड़ों अतिथि विद्वान माननीय सिंधिया जी से मिले उसमें सिंधिया जी ने कहा कि आपका नियमितीकरण हमारी सरकार की प्राथमिकता में है।सरकार से अनुरोध है कि अब देर उचित नहीं है क्योंकि नियमितीकरण के इंतजार में कई अतिथि विद्वान काल के गाल में समा गए हैं इसलिए अब देर उचित नहीं।

फालेन आउट अतिथि विद्वानों को वापस व्यवस्था में लेने की कर रहें तैयारी-उच्च शिक्षा मंत्री

उज्जैन दौरे पर रहे मध्य प्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री ड्रा मोहन यादव ने कहा कि हम बाहर हुए अतिथि विद्वानों को व्यवस्था में वापस लेने की तैयारी कर रहे हैं और जल्दी ही आप सभी वापस व्यवस्था में आ जाएंगे। जैसा कि आज ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक दिवसीय दौरा उज्जैन में था।

मोर्चा के मिडिया प्रभारी डॉ आशीष पांडेय ने सरकार से फिर अनुरोध किया है कि वित्त में पृष्ठांकन के लिए रुकी हुई 450 पोस्ट को तत्काल इसी प्रक्रिया में शामिल किया जाए जिससे हमारे अतिथि विद्वान व्यवस्था में आ सके।पिछले 8 महीने से दर दर की ठोकरें खाते हुए लगातार आत्महत्या कर रहे हैं मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षित अतिथि विद्वान।सरकार से विनम्र प्रार्थना है कि सभी बाहर हुए अतिथि विद्वानों को व्यवस्था में लेते हुए नियमितीकरण की प्रकिया शुरू करें। 

17 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here