Loading...    
   


मध्य प्रदेश: 24 घंटे 15 जिलों में कोरोना से 23 मौतें / MP CORONA UPDATE NEWS

भोपाल
। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने आज सोशल मीडिया पर बताया कि भाजपा सरकारों के बेहतर प्रबंधन के कारण देश में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की मृत्यु दर तेजी से कम हो रही है और आज ही मध्यप्रदेश में रिकॉर्ड 23 लोगों की मौत हो गई। मध्यप्रदेश के लिए यह अब तक का सबसे बड़ा और दुखदाई आंकड़ा है। चिंता वाली बात यह भी है कि 23 मौतें 15 जिलों में हुई हैं। इससे पहले तक माना जा रहा था कि इंदौर के लोगों का इम्यूनिटी सिस्टम खराब है इसलिए वहां मौतें ज्यादा हो रही है और भोपाल की हमीदिया अस्पताल में मृत मरीजों के परिजन प्रबंधन पर खुला आरोप लगाते रहे हैं।

MADHYA PRADESH CORONA BULLETIN 17 AUG 2020

संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं, मध्य प्रदेश द्वारा जारी कोरोनावायरस मीडिया बुलेटिन दिनांक 17 अगस्त 2020 (शाम 6:00 बजे तक) के अनुसार पिछले 24 घंटे में:- 
19862 सैंपल की जांच की गई। 
117 सैंपल रिजेक्ट हो गए। 
18932 सैंपल नेगेटिव पाए गए। 
930 सैंपल पॉजिटिव पाए गए। 
23 मरीजों की मौत हो गई। 
987 मरीज डिस्चार्ज किए गए। 
मध्यप्रदेश में संक्रमित नागरिकों की कुल संख्या 46385
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 1128 
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से स्वस्थ हुए नागरिकों की संख्या 35025
17 अगस्त 2020 को संक्रमित नागरिकों की संख्या 10232 
17 अगस्त 2020 को मध्यप्रदेश में संक्रमित इलाकों की संख्या 3660 

MP COVID-19 LATEST REPORT की खास बातें 

मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस का कहर अब हर एंगल से दिखाई दे रहा है। 
मध्यप्रदेश की तुलना में मध्यप्रदेश की मृत्यु दर बढ़ रही है। 
मध्यप्रदेश की तुलना में मध्यप्रदेश की पॉजिटिविटी रेट बढ़ रही है। 
मध्यप्रदेश की तुलना में मध्यप्रदेश में एक्टिव किस की संख्या काफी बढ़ गई है। 
मध्यप्रदेश की तुलना में मध्यप्रदेश में कंटेनमेंट जोन की संख्या 3600 से ज्यादा हो गई है। 
इंदौर में एक्टिव की 3000 से ज्यादा हो गए। 
भोपाल में एक्टिव केस 1500 के पास पहुंचने वाले हैं। 
जबलपुर जिसे कोरोना क्लीन सिटी माना गया था आज मध्य प्रदेश का तीसरा सबसे संक्रमित में जिला हो गया है। 
ग्वालियर के हालात गंभीर बने हुए हैं। 
चिंता वाली बात यह है कि गंभीर स्थिति वाले जिलों की संख्या बढ़ती जा रही है। 
100 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों की संख्या लगातार बढ़ रही है। 
यदि मध्यप्रदेश में कुछ नहीं बढ़ रहा है तो वह है सार्वजनिक स्थलों का सैनिटाइजेशन।



17 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here