Loading...    
   


मल्टीपल कोर्सेस की नीति निजी विश्वविद्यालयों को डिग्री बांटने की दुकान बना सकती है: मप्र कांग्रेस / MP NEWS

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से जारी प्रेस रिलीज के अनुसार प्रदेश के 4500 स्कूलों में एक भी शिक्षक नहीं है। वे भगवान भरोसे चल रहे हैं, और सरकार इस प्रदेश को देश में शिक्षा के क्षेत्र में आदर्श राज्य बनाना चाहती है। प्रदेश के 13000 स्कूल बंद किए जाने की योजना प्रचलित है। पिछले 15 वर्षों में प्रदेश की प्राथमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा का जो बेड़ा गर्क किया गया है उसे कोरी बयानबाजी से सुधारा नहीं जा सकता। 

नई शिक्षा नीति व्यवसायीकरण को बढ़ावा देने वाली है: भूपेंद्र गुप्ता

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने शिवराज सिंह से मांग की है कि वे प्रदेश को शिक्षा क्षेत्र की वास्तविकता से अवगत कराएं। इतनी बड़ी संख्या में स्कूल बंद करने का उद्देश्य कहीं स्कूल परिसरों को निजी हाथों में सौंपने का तो नहीं है? गुप्ता ने कहा कि नई शिक्षा नीति शिक्षा के व्यवसायीकरण को बढ़ावा देने वाली है। यह गुणवत्ता को प्रभावित करने वाली सिद्ध होगी।

एक ही परिसर में एक से अधिक कोर्सेज चलाने की अनुमति देने का सोच निजी शिक्षा संस्थानों को थोक बंद डिग्रियां बांटने की दूकान ना बना दे अन्यथा जो नुकसान प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था को व्यापम के कारण हुआ है वह शिक्षा को और रसातल में ले जायेगा। एमफिल समाप्त करने से पीएच डी की गुणवत्ता को उठाने के लिये क्या वैकल्पिक रणनीति होगी इसका खुलासा होना चाहिये। उन्होंने सरकार से आग्रह किया कि इसे लागू करने के पहले इसके सभी पहलुओं पर गंभीरता से विचार करें।

11 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

नागपुर से निकले बादल मध्य प्रदेश के 18 जिलों में मूसलाधार बरसेंगे, अलर्ट जारी
बिना बैलेंस और नेटवर्क के इमरजेंसी कॉल कैसे कनेक्ट हो जाता है, यहां पढ़िए
Lichen: बताइए यह क्या है, धरती का कोढ़ या भगवान का वरदान
MPTET नव चयनित शिक्षकों ने नियुक्ति के लिए सोशल मीडिया पर सरकार का घेराव किया


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here