Loading...    
   


जबलपुर में पिता और पुत्री की गला काटकर हत्या / JABALPUR NEWS

जबलपुर। मध्य प्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर में माढ़ोताल के ग्राम आगासोद में सोमवार-मंगलवार की दरम्यानी रात पिता और उसकी 3 साल की मासूम पुत्री की हत्या कर दी गई।  जानकारी के अनुसार सुशील गौढ 35 वर्ष अस्थि दिव्यांग होने के कारण चल नहीं पाता था। घर पर ही किराना दुकान चलाता था। उसके साथ उसकी 3 साल की बेटी संजना गौड़ कल रात कमरे में सो रही थी।

रात 2:30 बजे मृतक के बड़े भाई विष्णु गौड़ ने सुशील के घर का दरवाजा खुला देखा तो उसे शक हुआ। जैसे ही वह कमरे में घुसा सुशील खून से लथपथ पड़ा था वही बेटी भी कमरे में मृत मिली। बेटी के गले में धारदार हथियार से वार किया गया था वही सुशील के पीठ पर और गले पर भी काफी गहरे घाव थे। मृतक सुशील की दिव्यांग पत्नी ननद की बेटी की शादी में ग्राम टिकारी तेंदूखेड़ा गई थी घर पर सुशील और उसके पुत्री अकेले थे। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस कप्तान सिद्धार्थ बहुगुणा मौके पर पहुंचे।

पुलिस के अनुसार ग्राम आगासौद माढ़ोताल में सुशील गौड़ अपनी पत्नी व तीन वर्षीय मासूम बेटी सजना के साथ रहता है। वहीं मकान के अन्य हिस्सों में भाई निवासरत है। पत्नी पिछले दिन अपनी ननद की बेटी की शादी में ग्राम टिकारी तेंदूखेड़ा चली गई. घर में दिव्यांग सुशील व उसकी तीन वर्षीय बेटी संजना घर में रहे। घर के सामने छोटी सी किराना की दुकान संचालित करने वाला दिव्याग सुशील गौड़ व उसकी बेटी संजन ने मंगलवार की रात 10 बजे के लगभग खाना खाया और सोने के लिए कमरे में चला गया। देर रात अज्ञात तत्वों ने बेटी संजय व पिता सुशील की धारदार हथियार से गर्दन पर वार किए, जिससे पिता व पुत्री की मौके पर ही मौत हो गई। पड़ोस में रहने वाला भाई अरुण उठकर बाहर आया तो देखा कि सुशील के कमरे का दरवाजा खुला है, जिसपर अरुण ने आवाज लगाई, जबाव न मिलने पर अरुण कमरे के अंदर पहुंचा तो भाई सुशील व संजना को खून से लथपथ हालत में देखा तो चीख पड़ा, शोर सुनकर अन्य भाई व परिजन भी आ गए, जिन्होने सुशील व बेटी संजना को खून से लथपथ मृत हालत में देखा तो स्तब्ध रह गए। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा सहित अन्य पुलिस अधिकारी पहुंच गए, जिन्होने घटना स्थल की जांच की, पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत हो रहा है कि किसी ने कुल्हाड़ी से गर्दन पर वार कर हत्या की है, गले व गर्दन पर गहरी चोट के निशान है. घटना की सूचना मिलने पर सुशील की दिव्यांग पत्नी भी घर आ गई, जिसने पति सुशील व बेटी संजना को खून से लथपथ मृत हालत में देखा तो फूट-फूटकर रोई, जिसे देख भीड़ में बैठी महिलाओं की आंखे भी नम हो गई. पुलिस अधीक्षक ने आरोपियों पर दस हजार रुपए का इनाम घोषित किया है


30 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP में कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ी, शादी में 300 से ज्यादा शामिल, 80 से ज्यादा बीमार
मध्य प्रदेश में राजनीतिक तनाव: मंत्रियों की लिस्ट फाइनल नहीं हो पाई
मंडला जिला पंचायत आफिस में महिला कर्मचारी की नृशंस हत्या


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here