Loading...    
   


इंदौर के 1 दर्जन CBSE स्कूलों की मान्यता निरस्त / INDORE NEWS

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर जिले के 12 सीबीएसई स्कूलों की मान्यता निरस्त कर दी गयी है। किसी स्कूल के परिसर से हाईटेंशन लाइन जा रही है तो कहीं एक ही भवन में सीबीएसई और एमपी बोर्ड के स्कूल एक साथ संचालित हो रहे हैं। इसी तरह की कई खामियों के कारण संयुक्त संचालक लोक शिक्षण ने इंदौर जिले के 12 सीबीएसई स्कूलों की मान्यता निरस्त की है। 

वर्ष 2021-22 के लिए मान्यता व नवीन मान्यता के लिए संयुक्त संचालक के पास 24 स्कूलों के आवेदन पहुंचे थे। इसमें नवीन मान्यता के साथ नवीनीकरण के प्रकरण भी थे। इन आवेदनों के आधार पर संयुक्त संचालक ने स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों की निरीक्षण टीम का गठन किया। इस निरीक्षण रिपोर्ट के आधार पर ही मान्यता निरस्त की गई। जिन स्कूलों की मान्यता निरस्त हुई है, वे आयुक्त लोक शिक्षण के समक्ष अपील कर सकते हैं।

सीबीएसई ने पिछले वर्ष से नवीन मान्यता और नवीनीकरण के लिए संयुक्त संचालक को स्कूलों को मान्यता (निरीक्षण-परीक्षण) देने की जिम्मेदारी दी है। संयुक्त संचालक द्वारा आगामी शिक्षा सत्र 2021-22 के लिए स्कूल परिसर में निर्धारित मापदंड पूरे होने पर मान्यता देने की अनुशंसा की जा रही है। संयुक्त संचालक मनीष वर्मा के मुताबिक जांच दलों के निरीक्षण में स्कूलों में कई खामियां पाई गईं। दलों ने लॉकडाउन के पहले मार्च में स्कूलों का निरीक्षण किया था, जबकि कुछ स्कूलों का निरीक्षण लॉकडाउन खुलने के बाद इसी माह किया गया।


28 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ग्वालियर में मुरैना-भिण्ड से आने वालों पर प्रतिबंध, क्वारेंटाइन किए जाएंगे
आकाशीय बिजली में कितना करंट होता है, वह जमीन पर ही क्यों गिरती है
ठंडा और गर्म पानी एक साथ फ्रीजर में रखें तो पहले कौन सा बर्फ बनेगा
भोपाल विधान एलीना सोसायटी में चौथी मंजिल से 5 लोगों सहित नीचे गिरी लिफ्ट
मध्यप्रदेश में नायब तहसीलदार की पत्नी का बलात्कार
गर्भाधान संस्कार क्या होता है, क्या सचमुच गुणवान संतान की प्राप्ति होती है
इंदौर में जज के बेटे ने स्ट्रीट डॉग को गोली मार दी, पालतू कुत्ते पर भोंक रहा था
सरकारी अधिकारी निर्दोष नागरिक को जबरन रोककर रखे तो IPC की किस धारा के तहत मामला दर्ज होगा
अधिकारी, कोर्ट में गलत जानकारी पेश कर दे तो विभागीय कार्रवाई होगी या FIR दर्ज होगी, पढ़िए
भोजन में पहले रोटी खाना चाहिए फिर चावल या पहले चावल खाना चाहिए फिर रोटी, विज्ञान क्या कहता है
सीएम शिवराज सिंह के तिरुपति रवाना होते ही भोपाल में 2 दिग्गजों का डिनर, ये समीकरण कुछ कहता है
GWALIOR में बारिश कम होती है फिर अकाल क्यों नहीं पड़ता, जबकि पहले यह अकाल पीड़ित क्षेत्र था
मध्य प्रदेश कोरोना: 1000 की तरफ बढ़ता इंदौर, भिंड-मुरैना महामारी की चपेट में
क्या सचमुच बारिश के साथ केंचुए भी गिरते हैं, यदि नहीं तो अचानक कहां से आते हैं
भोपाल के फ्लैट में दो भाइयों की 8 दिन पुरानी लाशें मिली, 1 फर्श पर दूसरा फंदे से लटका मिला
जिस डॉक्टर को सीएम शिवराज सिंह ने सस्पेंड करवाया था कलेक्टर ने बहाल करवा दिया
झूठा आरोप लगाकर निर्दोष व्यक्ति को फंसाने वाले के खिलाफ किस धारा के तहत मामला दर्ज होगा
शिक्षक भर्ती में पदवृद्धि के लिए गृहमंत्री को ज्ञापन सौंपा
मप्र में सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों के लिए 'हमारा घर-हमारा विद्यालय' योजना: राज्य शिक्षा केन्द्र


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here