Loading...    
   


सीएम शिवराज सिंह के तिरुपति रवाना होते ही भोपाल में 2 दिग्गजों का डिनर, ये समीकरण कुछ कहता है / MP NEWS

भोपाल। एमपी के सीएम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार शाम तिरुपति के लिए रवाना हो गए। उनके 27 तारीख को लौटने की उम्मीद है। मीडिया में चर्चा थी कि वो मंत्रीमंडल की लिस्ट फाइनल करवाने के लिए दिल्ली जाएंगे। 

भोपाल में भाजपा के 2 दिग्गजों का डिनर सुर्खियों में

चौहान के निकलते ही बीजेपी के दो दिग्गजों की ‘डिनर पर चर्चा’ को लेकर राजधानी भोपाल में कई मतलब निकाले जा रहे हैं। सीएम के विरोधी खेमे के माने जाने वाले बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और प्रदेश सरकार में गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा का गुरुवार शाम भोपाल में मिलन कई चर्चाओं को जन्म दे रहा है। खासकर इसलिए भी कि चौहान के तिरुपति से लौटते ही प्रदेश कैबिनेट का विस्तार होना है।

कैलाश विजयवर्गीय गुरुवार शाम को नरोत्तम मिश्रा के भोपाल स्थित आवास पर रात्रिभोज के लिए पहुंचे थे। दोनों के बीच एकांत में लंबी चर्चा हुई। खुद मिश्रा ने ट्वीट कर इसके बारे में जानकारी दी तो लोग इसे सीएम की अनुपस्थिति में उनके दो धुर विरोधियों की मुलाकात के रूप में व्याख्या कर रहे हैं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान से भारी खफा हैं कैलाश विजयवर्गीय

कभी शिवराज सिंह चौहान की कैबिनेट का हिस्सा रहे विजयवर्गीय की उनसे मतभेदों की बात किसी से छिपी नहीं है। पार्टी के राष्ट्रीय संगठन में शामिल कर उन्हें एमपी से बाहर भेजने के पीछे भी कहीं न कहीं यह एक कारण रहा है। विजयवर्गीय की बढ़ती महत्वाकांक्षाओं लेकिन विवादित छवि के बीच पार्टी अब तक शिवराज के लोकप्रिय और किसान-समर्थक छवि को चुनती आई है। कैलाश को पश्चिम बंगाल का प्रभारी बनाकर कोलकाता भेजने का फैसला इन दो विरोधियों के बीच संतुलन बिठाने की पार्टी नेतृत्व की रणनीति का एक हिस्सा ही है।

मध्यप्रदेश सरकार में नरोत्तम मिश्रा समान शक्ति का प्रदर्शन कर रहे हैं

इधर कैलाश की गैरमौजूदगी में नरोत्तम मिश्रा शिवराज के नंबर वन विरोधी बन चुके हैं। मिश्रा को पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व का विश्वास हासिल है और वे शिवराज सरकार के लिए कई बार संकटमोचक की भूमिका भी निभा चुके हैं। प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को गिराने में भी उनकी सबसे अहम भूमिका थी, लेकिन सीएम के साथ उनके मतभेद की चर्चाएं पहले भी होती रही हैं। करीब दो सप्ताह पहले अचानक सीएम शिवराज सिंह, नरोत्तम मिश्रा के घर पहुंचे तो इसे भी दोनों के बीच मतभेद और मान-मनौव्वल से जोड़कर देखा गया।

26 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

CBSE 10th BOARD EXAM रद्द, अब कोई परीक्षा नहीं होगी: सुप्रीम कोर्ट का फैसला
इंदौर में डॉक्टर के पिता की कोरोना से मौत, डॉक्टर सहित परिवार पॉजिटिव


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here