Loading...    
   


नाले में अचानक आई बाढ़, दो लड़कियों की मौत, तीसरी लापता - MP NEWS

भोपाल
। मानसून की शुरुआत में ही नदी नालों में बाढ़ के समाचार आने लगे हैं। सिंगरौली जिले में एक बरसाती नाले में अचानक बाढ़ आ गई। नाला पार करते समय चार लड़कियां बाढ़ के पानी में बह गई। इनमें से दो लड़कियों के शव मिल गए हैं। तीसरी लापता है। 6 साल की मासूम बच्ची झाड़ियों में फंस गई थी, इसलिए जिंदा बच गई। 

सिंगरौली एएसपी अनिल सोनकर ने बताया कि कोनी गांव के 7 ग्रामीण शुक्रवार की दोपहर जंगल लकड़ी लेने गए थे। जो शाम करीब 7 बजे के आसपास पहाड़ उतर कर गांव की ओर वापस आ रहे थे। इलाके में ज्यादा बारिश नहीं हुई थी लेकिन बरसाती नाले में बाढ़ की स्थिति बन गई थी। 3 ग्रामीण पहले सफलतापूर्वक नाला क्रॉस करके निकल गए लेकिन उनके पीछे आ रही चार लड़कियां चोनाईया नदी के बरसाती नाले को क्रॉस करते समय हादसे का शिकार हो गई। बताया गया है कि जंगल में बारिश होने के कारण नाले में बाढ़ आ गई।

देखते ही देखते दो बच्चियां और दो सगी बहनें बह गईं। एक मासूम बहते हुए पेड़ के झाड़ी में फंस गई। जो कुछ देर बाद निकलकर बाहर आ गई। उधर, जो तीन लोग पहले नाला क्रॉस कर चुके थे, काफी इंतजार के बाद जायसवाल परिवार को पीछे आता नहीं देखा तो वे वापस लौटे। उन्होंने देखा कि नाले में बाढ़ का पानी आ गया है। जबकि जिंदा बची मासूम झाड़ियों में फंसी हुई है। उन्होंने बच्ची को झाड़ियों से निकाला। फिर रात 8 बजे बच्ची ने पूरी कहानी पुलिस और प्रशासन को बताई।

दो बहनों की एक ही गांव में शादी और एक ही दिन में मौत

पुलिस ने बताया कि कोनी निवासी 6 साल की सुप्रिया ​जायसवाल पिता- श्रीकृष्ण जायसवाल बच गई, जबकि 31 साल की अन्नू जायसवाल ​पति- बाबूराम जायसवाल और 30 साल की उर्मिला जायसवाल पति- श्रीकृष्ण जायसवाल का शव शनिवार को रेस्क्यू ऑपरेशन कर SDRF ने एक साथ बरामद कर लिया। ग्रामीणों का दावा है कि दोनों बहनों की एक ही गांव में एक साथ शादी हुई थी। जबकि एक ही दिन एक समय में दोनों की मौत हुई और एक ही जगह पर डेड बॉडी बरामद की गई। वहीं, 9 साल की प्रियंका जायसवाल पिता- रमेश जायसवाल का पता नहीं चला है। मृतक उर्मिला जायसवाल की बेटी सुप्रिया ​जायसवाल बच गई।

गोपद नदी में स्टीमर से होगा रेस्क्यू ऑपरेशन

जिला प्रशासन का कहना है कि जब तक प्रियंका जायसवाल पिता- रमेश जायसवाल का पता नहीं चलता तब तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलेगा। SDRF की टीम कुछ देर बाद गोपद नदी में स्टीमर की मदद से रेस्क्यू ऑपरेशन कर सकती है। ग्रामीणों का दावा है कि आगे यह नाला गोपद नदी में ही गिरता है। वहीं मौके पर थाना पुलिस, जिला प्रशासन की टीम, होमगार्ड, SDRF सहित पुलिस के वरिष्ठ आला अधिकारी मौके पर डटे हुए हैं।

12 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here