Loading...    
   


INDORE में इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान में चल रहा था CORONA का इलाज, डॉक्टर की डिग्री 12वीं पास - MP NEWS

इंदौर।
 मध्य प्रदेश के इंदौर जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर मंत्री तुलसी सिलावट के गांव में 12वीं पास झोलाछाप डॉक्टर कोरोना मरीजों का इलाज कर रहा है। ऐसा ही मामला बुधवार को तब सामने आया, जब ग्रामीणों ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किया।     

वीडियो में एक महिला पलंग पर लेटी हुई दिख रही है। उसे ऑक्सीजन भी लगी है। चंद्रावतीगंज में न्यू इमरजेंसी हॉस्पिटल अप्रैल 2019 में शुरू किया गया था। इसका संचालन 12वीं पास राजा चौधरी करता है। वह खुद को BHMS बताता है। हकीकत में वह 12वीं पास है। ग्रामीणों ने बताया, यहां डॉक्टर प्रजापति नाम से डॉक्टर हैं। ग्रामीणों की मानें तो डॉक्टर प्रजापति बहुत कम आते हैं। ऐसे में राजा चौधरी ही मरीजों का इलाज कर रहे हैं। यहां तक कि अस्पताल में कोरोना मरीजों का इलाज भी चल रहा है। 

अस्पताल प्रबंधन दबे-छिपे कोविड पेशेंट का इलाज करने में लगा है। इसमें ऑक्सीजन सिलेंडर रखे हैं। कोविड में उपयोग की जाने वाली फेबी फ्लू नामक दवाइयां भी लिख कर दी जा रही है। वीडियो में दिख रहा है कि दुकान के अंदर कबाड़ के कमरे में एक वृद्धा को ऑक्सीजन लगी है। महिला का नाम शहजाद बी (50) निवासी पोलाय बताया गया। वह कोरोना संक्रमित है। उन्हें सांस लेने में समस्या आई। राजा ने उन्हें दुकान के अंदर बेड लगवाकर इलाज शुरू कर दिया। राजा चौधरी का कहना था कि अस्पताल में कोरोना मरीजों के इलाज की व्यवस्था नहीं थी, इस कारण दुकान में भर्ती कर दिया।

वीडियो सामने आने के बाद अस्पताल के संचालक राजा चौधरी से जानकरी चाही, तो उसका कहना था कि मेरे अस्पताल में जगह नहीं थी। इस कारण मरीज को पास ही इलेक्ट्राॅनिक्स दुकान में बिस्तर लगाकर ऑक्सीजन लगा दी और इलाज शुरू कर दिया। राजा चौधरी ने बताया कि वह उसकी बुआ है।

राजा नामक ये शख्स सिर्फ 12वीं पास है। गांव वालों के सामने वह खुद को डॉक्टर बताता है। वह मूलत: यूपी के फिरोजाबाद का रहने वाला है। वह लोगों को बीएचएमएस डिग्रीधारी बताता है। वहीं, भास्कर को राजा चाैधरी ने बताया कि वह मेरठ की एक यूनिवर्सिटी से BAMS की पढ़ाई कर रहा है।

सांवेर के मेडिकल ऑफिसर आदित्य चौरसिया ने बताया कि मुझे आपके माध्यम से जानकारी मिली है। हम अस्पताल में पड़ताल करेंगे। यदि गड़बड़ी पाई गई, तो अस्पताल सील करेंगे। जानकरी जब स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारियों को दी गई, जिसमें बाद सांवेर के मेडिकल ऑफिसर इंदौर से अस्पताल की चेंकिंग के लिए रवाना हुए।

26 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here