Loading...    
   


GWALIOR: भांजे से रेप करवाता था पति, बच्चे की चाह में ससुराल वाले देते थे साथ - MP NEWS

ग्वालियर।
 मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में वंश की चाह में ही एक महिला से उसके पति और ससुराल वाले भांजे से दुष्कर्म करा रहे थे। उसे पता नहीं चले, इसके लिए उसे दूध में नशे की दवा दी जाती थी। महिला प्रेग्नेंट भी हो गई। गुस्से में खुदकुशी करने हाथ की नस भी काटी, लेकिन आरोपियों ने घर पर ही डॉक्टर से उपचार कराकर मामले का छुपा दिया। 

गोला का मंदिर पुलिस ने अब इस मामले में पति, सास,ससुर, ताऊ ससुर, दो ननद व भांजा सहित 7 लोगों पर FIR दर्ज की है। फिलहाल आरोपी फरार हैं। भिंड निवासी 27 वर्षीय महिला की शादी 3 दिसंबर 2016 को ग्वालियर के गोला का मंदिर निवासी एक परिवार में हुई थी। पति उससे दूरी बनाकर रखता था। जब भी वह कारण पूछती पति बात को टाल जाता।

एक दिन जब महिला की सुबह नींद खुली तो उसके सिर में तेज दर्द हो रहा था। उसे अहसास हुआ कि उसके साथ कुछ गलत हुआ है। उसका पति जबलपुर में था। उसे याद आया कि रात को सास ने उसे दूध दिया था। उसके बाद उसे कुछ होश नहीं है सिर्फ भांजे को कमरे में आते देखा था। इसके बाद जब पति लौटकर आया तो महिला ने पूरी बात बताई।

पति ने मदद करने के बदले कहा कि यह घर की बात है और घर में ही रहनी चाहिए। इसके बाद यह आए दिन ऐसा होनो लगा। महिला को गर्म दूध दिया जाता और उसके बाद सगा भांजा उसके साथ दुष्कर्म करता। इस घटना से महिला ने अपनी सास व दो ननद को भी अवगत कराया। उन्होंने बनाया कि उसका पति मेडिकल अनफिट है। इसलिए वंश को आगे बढ़ाने के लिए उसका भांजा ही उसके साथ सो रहा है। इससे महिला के मन पर गहरा आघात हुआ। उसे दो महीने का गर्भ भी ठहर चुका था, लेकिन वह किसी कारण गिर गया।

कुछ दिन पहले महिला ने घर पर किसी के नहीं होने का फायदा उठाकर पिता को बुलाया। उनके साथ चली गई। वहां मायके में पूरी घटना बताई। इसके बाद गोला का मंदिर थाना में शिकायत की है। पुलिस ने भांजे पर दुष्कर्म, पति , सास, ससुर, ताऊ ससुर व ननद पर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। अपनी इस हालत का किसी से जिक्र नहीं कर पा रही महिला ने हाथ नश काट ली थी पर आरोपियों ने अपनी पहुंच का फायदा उठाकर डॉक्टर को घर पर ही बुला कर इलाज कराया। महिला का कहना था कि इस शादी को लेकर उसके कई सपने थे, लेकिन उनको ससुराल वालों ने अपने पैरों तले रौंद दिया था।

19 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here