Loading...    
   


MP CORONA: हाईकोर्ट की सख्ती के बाद ग्वालियर से कोरोना खत्म हो रहा है - UPDATE NEWS

भोपाल
। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच द्वारा चुनाव प्रचार के लिए नियम विरुद्ध भीड़ जुटाने वाले नेताओं के खिलाफ FIR के आदेश जारी करने के बाद से सरकारी रिपोर्ट में ग्वालियर के सामने प्रतिदिन संक्रमित नागरिकों की संख्या तेजी से कम हो रही है। आज ग्वालियर के आगे मात्र 33 लिखा है। यदि यह आंकड़ा राजनीतिक दबाव में कम नहीं हो रहा है तो बहुत अच्छी बात है। दुख की बात यह है कि 24 घंटे में 35 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। पिछले कुछ दिनों में मध्य प्रदेश के कुछ खास आंकड़ों में चमत्कारी गिरावट दर्ज की गई है। 

MADHYA PRADESH CORONA BULLETIN 04 OCTOBER 2020

संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं, मध्य प्रदेश द्वारा जारी कोरोनावायरस मीडिया बुलेटिन दिनांक 4 अक्टूबर 2020 (शाम 6:00 बजे तक) के अनुसार पिछले 24 घंटे में:- 
25226 सैंपल की जांच की गई।
173 सैंपल रिजेक्ट हो गए।
23506 सैंपल नेगेटिव पाए गए।
1720 सैंपल पॉजिटिव पाए गए।
35 मरीजों की मौत हो गई।
2120 मरीज डिस्चार्ज किए गए।
मध्यप्रदेश में संक्रमित नागरिकों की कुल संख्या 135638 
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 2434 
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से स्वस्थ हुए नागरिकों की संख्या 113832 
4 अक्टूबर 2020 को संक्रमित नागरिकों की संख्या 19372

MADHYA PRADESH COVID UPDATE NEWS TODAY 04 OCTOBER 2020 

जब अचानक सुखद स्थिति बनने लगे तो विश्वास नहीं होता। ग्वालियर के मामले में कुछ ऐसा ही हो रहा है। प्रतिदिन पॉजिटिव नागरिकों की संख्या इतनी तेजी से घट रही है कि किसी घोटाले का संदेह होने लगा है। संदेश इसलिए भी हो रहा है क्योंकि हाल ही में हाईकोर्ट में काफी सख्त लहजे में कलेक्टरों को चुनाव प्रचार में भीड़ जुटाने वाले नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज करने के लिए कहा है। 
इंदौर पूरी अकड़ के साथ आगे बढ़ रहा है। आज 477 नागरिक पॉजिटिव दर्ज किए गए हैं। ऐसा लग रहा है जैसे जल्द ही इंदौर का औसत 500 पॉजिटिव प्रतिदिन हो जाएगा। इंदौर के अखबार बताते हैं कि कोविड-19 इंदौर के अस्पताल और दवा विक्रेताओं के लिए सबसे अच्छा अवसर बन गया है। 1 दिन का ₹25000 के हिसाब से 15 दिन का एडवांस पैसा जमा कराया जा रहा है। 
जबलपुर के बिगड़ते हालात, कंट्रोल करने की कोशिश की जा रही है। कोई चमत्कारी गिरावट दर्ज नहीं हो रही परंतु अस्पतालों में भर्ती मरीजों की संख्या बढ़ने नहीं दी जा रही है। 
भोपाल में सार्वजनिक स्थानों का सैनिटाइजेशन, सोशल डिस्टेंसिंग एवं फेस मास्क के लिए रुको रुको जैसा कोई अभियान नहीं है। संक्रमण को फैलने की पूरी आजादी दे दी गई है। आम नागरिक थोड़े सतर्क हैं शायद इसलिए आज की रिपोर्ट में भी 202 पॉजिटिव दर्ज हुए हैं।




04 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here