Loading...    
   


BHOPAL में दलित लड़की का रेप, हंगामा, आरोपी को पब्लिक ने पीटा, कांग्रेस का प्रदर्शन - MP NEWS

भोपाल।
रविवार की सुबह भोपाल की शुरुआत दुखद घटना क्रम से हुई। 20 साल की दलित लड़की का उसी के परिचित चौकीदार ने सारी रात बंधक बनाकर बलात्कार किया। उसके दो साथियों ने पहरेदारी की। इस दौरान लड़की को बेरहमी से पीटा गया। लड़की के माता-पिता ने रात में ही पुलिस को गुमशुदगी की सूचना दे दी थी परंतु पुलिस लड़की की तलाश नहीं कर पाई। बदहवास लड़की सुबह पुलिस को मिली। पब्लिक ने दुष्कर्म के आरोपी को ढूंढ कर बेरहमी से पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया। कांग्रेस पार्टी ने शिवराज सिंह सरकार और भोपाल पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्यप्रदेश को देश की बलात्कार की राजधानी कहा है। 

पुलिस से पहले पब्लिक ने आरोपी को ढूंढ निकाला, बेरहमी से पीटा

ASP BHOPAL दिनेश कौशल ने बताया कि देर रात पीड़िता के मां-बाप पुलिस थाने आए थे। उन्होंने बताया कि उनकी 20 साल की लड़की एक दुकान पर काम करती है। वह घर नहीं लौटी है। पुलिस ने सभी संभावित जगह और ठिकानों पर तलाश की। पुलिस सबसे पहले जिस दुकान पर लड़की काम करती थी, वहां पहुंची तो उन्होंने बताया कि वह एक्टिवा लौटाने किसी देवी सिंह के यहां गई है। इधर, पुलिस से पहले ही लोगों ने आरोपी को खोज लिया।

रविवार सुबह निर्माणाधीन मकान में बंधक पड़ी थी लड़की, शरीर पर चोटों के निशान

लड़की सुबह बैरागढ़ के 12 नंबर कैंपस के एक निर्माणाधीन मकान में बंधक मिली। वह बदहवास हालत में थी। उसे कुछ चोटें भी थीं। यह देखकर लोगों का गुस्सा भड़क गया और उन्होंने आरोपी की जमकर पिटाई की। आरोपी देवी सिंह को पुलिस के हवाले कर दिया गया। घायल होने के कारण उसे हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

पुलिस ने कहा पीड़िता घुमक्कड़ जाति से संबंधित है, दलित नहीं

एएसपी कौशल ने बताया कि पीड़िता घुमक्कड़ जाति से संबंधित है। अगर वह दलित श्रेणी में आती है तो आरोपियों के खिलाफ अन्य धाराएं भी बढ़ाई जाएंगी। तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है।

रेप पीड़िता ने बताया घटना का विवरण

पीड़िता ने बताया कि वह 35 साल के देवी सिंह को पहचानती है। काम के सिलसिले में शनिवार को वह देवी से एक्टिवा ले गई थी। रात करीब 9:30 बजे वह देवी सिंह को निर्माणाधीन मकान पर गाड़ी लौटाने गई थी। उसके साथ दो और दोस्त वहां पर थे। वह उन्हें नहीं जानती थी। देवी ने कहा कि उसके पैसे गिर गए हैं। अंधेरे में दिख नहीं रहे हैं। टॉर्च दिखा दो। जैसे ही दरवाजे के पास टॉर्च दिखाने लगी तो उसके दोनों दोस्तों ने मुझे पकड़ लिया और कमरे के अंदर कर दिया। देवी ने मेरे साथ मारपीट करके दुष्कर्म किया और उसके दोनों साथी बाहर बैठकर पहरा देते रहे।

भोपाल में दलित लड़की के रेप पर डीआईजी इरशाद वली का बयान

डीआईजी इरशाद वली ने बताया कि अभी तक के बयानों के आधार पर पीड़िता की शिकायत पर तीनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। मुख्य आरोपी देवी सिंह को अस्पताल में भर्ती कराया है। उसने ही लड़की से दुष्कर्म किया है। उसके दोनों साथियों ने इसमें उसकी मदद की है। इसलिए लड़की के बयान के आधार पर सभी को आरोपी बनाया गया है। यह अपराध चिह्नित अपराध में रखा गया है ताकि इस मामले की जल्द जांच कर दोषियों को सख्त सजा दिलवाई जा सके।

भोपाल में दलित लड़की के बलात्कार के बाद महिला कांग्रेस का प्रदर्शन

कांग्रेसी महिला कार्यकर्ता का कहना है कि भाजपा की सरकार में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। आये-दिन महिलाओं के साथ दुष्कर्म की वारदातें हो रही हैं। इसको लेकर उन्होंने रविवार दोपहर बाद कांग्रेस कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। उन्होंने आरोप लगाए कि शिवराज सरकार बनने से लगातार महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। उन्होंने शिवराज का पुतला भी जलाया।

04 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here