Loading...    
   


बड़वानी कांड: जिसे गुरुद्वारे का ग्रंथि बताया जा रहा है SP ने कहा वह चोरी का आरोपी है, मेडिकल के लिए ले जा रहे थे / MP NEWS

भोपाल
। बड़वानी में गुरुद्वारे के ग्रंथी प्रेम सिंह की पुलिस द्वारा मारपीट के मामले में एसपी बड़वानी निमिष अग्रवाल ने एक अलग तरह की कहानी बताइए। अब तक प्राप्त हुए समाचारों में बताया गया था कि पुलिस चालानी कार्रवाई कर रही थी और प्रेम सिंह ने ₹250 का चालान देने से इनकार कर दिया था इसलिए मारपीट की गई परंतु एसपी निमेष अग्रवाल का कहना है कि प्रेम सिंह चोरी के दो मामलों में आरोपी है। पुलिस चेकिंग के दौरान शराब के संदेह में उसे मेडिकल के लिए ले जाया जा रहा था, तभी उसने विवाद किया। (इस घटना का वीडियो यूट्यूब पर देखने के लिए यहां क्लिक करें)

मध्य प्रदेश शासन के बड़वानी स्थित जनसंपर्क कार्यालय से एसपी बड़वानी निमिष अग्रवाल के नाम से जारी किए गए प्रेस रिलीज के अनुसार कल गुरूवार शाम को थाना पलसूद क्षेत्र में वाहन चेकिंग के दौरान मोटर सायकल पर दो सिकलीगर रोके गये थे। इनमें से एक का नाम प्रेमसिंह सिकलीगर पिता मगनसिंह निवासी वार्ड नम्बर 15 पलसूद था। थाना रेकार्ड अनुसार प्रेमसिंह पर सोने-चाॅदी के जेवर एवं नगदी चुराने का जबलपुर के थाना पनागर, थाना गोहलपुर एवं थाना ग्वारीघाट में अपराध पंजीबद्ध है। जब उससे वाहन के कागजात मांगे गये तो वह वाद - विवाद करने लगा। इसी दौरान जब पुलिस को उसके द्वारा शराब का सेवन किये जाने की शंका हुई तो उसे मेडिकल हेतु थाना ले जाने की कोशिश, पुलिस द्वारा की गई। 

पुलिस अधीक्षक बड़वानी श्री निमिष अग्रवाल ने बताया कि कल गुरूवार को पलसूद में हुये घटनाक्रम में निर्धारित प्रक्रिया अनुसार कार्यवाही नही करने पर सहायक उपनिरीक्षक श्री सीताराम भटनागर एवं प्रधान आरक्षक श्री मोहन जमरे को तत्काल निलम्बित कर दिया है। साथ इस घटनाक्रम की जाॅच अनुविभागीय अधिकारी पुलिस राजपुर को सौपी है।

07 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here