Loading...    
   


जबलपुर कावड़ यात्रा के संदर्भ में शांति समिति का फैसला / JABALPUR NEWS

जबलपुर। कोरोना से आम जनता के स्वास्थ की सुरक्षा के मद्देनजर इस बार जबलपुर में कांवड़ यात्रा का आयोजन नहीं होगा। यह निर्णय आज बुधवार को जिला प्रशासन के साथ सम्पन्न हुई शांति समिति की बैठक में कांवड़ यात्रा आयोजन समितियों द्वारा लिया गया। 

जुलाई माह में धार्मिक आयोजनों के बारे में चर्चा करने कलेक्टर भरत यादव की अध्यक्षता में आयोजित शांति समिति की इस बैठक में पुलिस अधीक्षक सिद्दार्थ बहुगुणा, अतिरिक्त कलेक्टर संदीप जीआर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर अमित कुमार, पुलिस अधीक्षक यातायात अगम जैन, संस्कार कांवड़ यात्रा, नर्मदा सन्देश कांवड यात्रा एवं अन्य आयोजन समितियों के पदाधिकारी भी मौजूद थे। 

बैठक में लिये गये निर्णय के मुताबिक कोरोना प्रोटोकॉल और शासन के दिशा-निर्देशों के पालन में आयोजन समितियों द्वारा इस वर्ष कांवड़ यात्रा के स्थान पर मदनमहल की पहाडी तथा माँ नर्मदा के किनारे पौधारोपण किया जायेगा। इसके अलावा समितियाँ अन्य रचनात्मक गतिविधियों में भी हिस्सेदारी निभायेंगीं। कांवड़ यात्रा आयोजन समितियों द्वारा पौधारोपण का कार्य कल से सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाते हुए प्रारम्भ किया जायेगा। कांवड़ यात्रा के आयोजन के दिन सोमवार 1& जुलाई को किसी तरह के कोई कार्यक्रम नहीं होंगे। इस बार गुप्तेश्वर धाम से बाबा भोलेनाथ की शोभायात्रा नहीं निकालने का निर्णय भी बैठक में लिया गया है।

कलेक्टर श्री यादव ने बैठक में अनलॉक-2 के तहत धार्मिक आयोजनों को लेकर केन्द्र शासन के गृह मंत्रालय एवं राज्य शासन के गृह विभाग के निर्देशों का उल्लेख करते हुए बताया कि 31 जुलाई तक धार्मिक, सामाजिक एवं राजनैतिक आयोजनों पर रोक जारी रहेगी। उन्होंने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर इस बार कांवड़ यात्रा नहीं निकालने का निर्णय लेने के लिए तथा माह के दौरान धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन नहीं करने के लिए बनी सहमति पर शांति समिति के सदस्यों आयोजनों समितियों का आभार व्यक्त किया। बैठक में शिव यादव, हरीश चौबे एवं शरद काबरा भी मौजूद थे।

02 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here