Loading...    
   


ग्वालियर में जघन्य हत्याकांड: बेटे ने मां की कनपटी पर हथौड़े मारा, फनर से गला रेता फिर पेचकस से गोदा / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर के न्यू कृष्णा कॉलोनी क्षेत्र में ताराबाई उर्फ रेनू चौहान के अंधे कत्ल की गुत्थी फोरेंसिक पड़ताल व डॉग जॉन्टी की मदद से पुलिस ने 24 घंटे में सुलझा ली है। क्योंकि जॉन्टी ने पहले दिन ही हत्या का इशारा मृतका के बेटे की तरफ किया था। पुलिस ने जितेंद्र को केंद्र में रखकर पड़ताल शुरू की। फोरेंसिक एक्सपर्ट अखिलेश भार्गव का मत था कि कोई बाहर का व्यक्ति अंदर नहीं आया है। 

हत्या के बाद कोई घर से बाहर से गया है। क्योंकि मृतक का खून घर के ही अंदर तक ही फैला मिला है। ठोस साक्ष्य मिलने के बाद जितेंद्र को थाने बुलाकर पूछताछ की तो उसने अपराध कबूल कर लिया। उसने पुलिस को बताया कि बुधवार रात 11 बजे वह किचन में अपने लिए चाय बना रहा था। उसी समय मां चिल्लाकर बोली- काम-धंधा कुछ करता नहीं। कभी दो पैसे कमाकर हाथ पर रखे नहीं और साहब को रात में चाय चाहिए। यह बात इतनी चुभ गई कि मां की हत्या कर दी। हत्या की गुत्थी सुलझाने में सीएसपी नागेंद्र सिंह व ग्वालियर थाना प्रभारी बलवीर सिंह मावाई की प्रमुख भूमिका रही।  

आरोपित जितेंद्र भी स्मैक का नशा करता है। उसने कबूल किया कि मां अक्सर उसे काम-धंधा न करने का उलाहना देती थी। चाये बनाते समय मां के टोकने पर उसने निश्चय कर लिया था कि मां को आज मार देगा। पत्नी के सोने के बाद वह मां के कमरे में गया। उसने सोती मां के माथे की कनपटी पर हथौड़े से प्रहार किया। उसके बाद फनर से उसका गला रेता और गर्दन पर पेचकस से भी कई वार किए। इसके बाद बाथरूम में जाकर कपड़े साफ किए और बाद में पत्नी के पास जाकर सो गया। पुलिस ने तीनों हथियार भी बरामद कर लिए हैं। आरोपित की पत्नी प्रियांशी सुबह सोकर उठी तो सास मृत मिली थी। वो भी यही समझ रही थी कि कोई बाहर से व्यक्ति अंदर और हत्या करके चला गया। 

एएसपी पंकज पांडे ने बताया कि ताराबाई उर्फ रेनू पत्नी शैलेंद्र सिंह चौहान की घर में संदिग्ध परिस्थतियों हुई हत्या की पड़ताल के दौरान मृतक के बेटे जितेंद्र के खिलाफ मां की हत्या करने के साक्ष्य मिल गए थे। लेकिन हत्या जैसे प्रकरण में घरवालों को संदेह में लेकर पूछताछ करना आसान नहीं होता। यह परिवार भी आपराधिक प्रवृत्ति का है। मृतका का पति शैलेंद्र स्मैक तस्करी के आरोप में जेल में है। ताराबाई भी स्मैक बेचते दो बार पकड़ी जा चुकी थी। ठोस साक्ष्य जुटाकर जितेंद्र से पूछताछ की तो उसने मां की हत्या करना कबूल कर लिया।

ऐसे सुलझी हत्या की गुत्थी

परिजन ने बताया कि शरीर जला होने के कारण रेनू कम कपड़े पहनकर सोती थी। पुलिस के सामने सवाल था कि अगर घर के बाहर का कोई आता तो मृतका पूरे कपड़े पहनकर दरवाजा खोलती। 

जागते व्यक्ति को मारना आसान नहीं होता है। कमरे के ऊपर बहू-बेटे सो रहे थे। किसी ने चीखने तक की आवाज नहीं सुनी। मुख्य दरवाजा भी अंदर से बंद था। जबकि बेटे ने कुछ लोगों से मां के संबंध बताकर पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया।

जांच के दौरान कमरे से दरवाजे तक खून मिला। लेकिन घर के बाहर एक खून की एक बूंद नहीं मिली। अगर हत्यारा कर घर के बाहर जाता तो घर के बाहर भी खून होता। क्योंकि हत्या करने के बाद हत्यारा घर के बाथरूम में साक्ष्य मिटाए, यह आसान नहीं होता। इससे साफ हो गया कि न तो हत्या करने के लिए कोई बाहर से आया और नहीं बाहर गया।

हत्यारे तक पहुंचने पुलिस ने डॉग की मदद भी ली। स्निफर डॉग जॉन्टी मृतका का खून सूंघने के बाद घर में ही चक्कर लगाता रहा। इस बीच अचानक उसने मृतका के बेटे जितेंद्र का हाथ अपने मुंह में दबाकर हत्या का संदेह जता दिया था। अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में मदद करने पर जॉन्टी के हेंडलर को 2 हजार का इनाम दिया गया है। 


27 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

इंदौर में जज के बेटे ने स्ट्रीट डॉग को गोली मार दी, पालतू कुत्ते पर भोंक रहा था
ग्वालियर में मुरैना-भिण्ड से आने वालों पर प्रतिबंध, क्वारेंटाइन किए जाएंगे
सुनिए पीएम मोदी के बारे में कांग्रेस विधायक वो बयान जिसके बाद गोलियां चल गईं
भोपाल के बड़े कपड़ा व्यापारी की कोरोना से मौत, बाजार में दहशत
बीमा प्रीमियम देने के बाद रसीद मिलने से पहले मौत हो जाए तो क्लैम मिलेगा या नहीं
भारत में सभी सामान्य रेल सेवाएं रद्द, पढ़िए रेलवे बोर्ड का नया फैसला
अधिकारी, कोर्ट में गलत जानकारी पेश कर दे तो विभागीय कार्रवाई होगी या FIR दर्ज होगी, पढ़िए
एक पेड़ जिसके फल में इम्यूनिटी, टहनियां टूथब्रश और पत्ते माउथ फ्रेशनर होते हैं, भविष्यवाणी भी करता है


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here