Loading...    
   


इंदौर को कोरोना से बचाने हजारों लोगों को दिए जाएंगे ऑक्सीमीटर / INDORE NEWS

इंदौर। शहर में जून-जुलाई में 13,438 संक्रमण के मामले सामने आने की संभावना जताई जा रही है। ऐसे में प्रशासन का सारा जोर होम आइसोलेशन पर है। माना जा रहा है कि चार हजार लोग ऐसे होंगे, जिन्हें होम आइसोलेशन में रखा जा सकता है। सभी को पल्स ऑक्सीमीटर दिए जाएंगे, ताकि वे खुद ही ऑक्सीजन का स्तर जांच कर जानकारी भेज सकें।

इंदौर देश में पहला जिला है, जहां एसिम्प्टोमेटिक (जिनमें लक्षण न दिखें) मरीजों को पल्स ऑक्सीमीटर दिए जा रहे हैं। 80% मरीज ए-सिम्प्टोमेटिक ही होते हैं। अभी 27 पॉजिटिव मरीजों को होम आइसोलेशन रखा जाएगा। उनके परिजन को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा का डोज लेना अनिवार्य होगा।

पल्स ऑक्सीमीटर क्या होता है

पल्स ऑक्सीमीटर छोटी-सी मशीन होती है, जिसमें कोई भी उंगली रखकर शरीर में ऑक्सीजन का स्तर पता किया जाता है। सामान्य व्यक्ति में ऑक्सीजन का स्तर 94% से अधिक होना चाहिए। इससे कम पर माना जाता है कि मरीज को सांस लेने में दिक्कत है। कोरोना का सबसे बड़ा खतरा यही है कि मरीज को सांस लेने में परेशानी आती है। इस मशीन में हार्ट रेट का भी पता लगाया जाता है। बाजार में यह डेढ़ हजार रुपए में उपलब्ध है। जिला प्रशासन चिह्नित मरीजों को निःशुल्क देगा।


13 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

प्रदेश में कोरोना 4000 के पार, इंदौर 2107, भोपाल 864, 42 जिले संक्रमित
इंदौर में डॉक्टर ने बीमार युवती का रेप कर डाला, लॉकडाउन के कारण मौका मिला 
भास्कर लक्षकार IAS पर 150 करोड़ की जमीन घोटाले का आरोप
सिंधिया के साथी 3 दिन के भीतर कांग्रेस में आस्था स्पष्ट करें: रामनिवास रावत
जीवित इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन शव तैरता रहता है, ऐसा क्यों, आइए जानते हैं
13 मई-25 जून शुक्र वक्री रहेंगे, पढ़िए आपका जीवन कितना प्रभावित होगा
भोपाल कंटेन्मेंट में लोगों को घरों से निकालकर दूसरी जगह शिफ्ट किया जा रहा है


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here