Loading...    
   


ग्वालियर की सड़कों पर रात होते ही सज जाती है सब्जी मंडी / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। रात गहराते ही दूर दराज से सब्जी लेकर आने वाले सब्जी कारोबारी सडक़ किनारे अपनी दुकान सजाकर बैठ जाते हैं और शहरभर में सब्जी की सप्लाई करने वाले ठेले वाले सस्ती सब्जी की चाह में खरीदारी करने के लिए पहुंच जाते हैं जिससे जाम की स्थिति बन जाती है। जिला प्रशासन द्वारा शहरवासियों सस्ती सब्जी मुहैया कराने के लिए 10 प्वाइंट निर्धारित किए हैं जहां थोक कारोबारियों को सब्जी का विक्रय किया जा रहा है।

लॉकडाउन के चलते शहरवासियों को सब्जी के लिए परेशान नहीं होना पड़े इसे देखते हुए शहर के कई स्थानों पर सब्जी मंडी बनाई गई हैं और हाथ ठेला संचालकों को कहा गया है कि वह गली मोहल्ले में जाकर सब्जी उपलब्ध कराएं। सब्जी मंडियों में सिर्फ थोक कारोबारियों को ही प्रवेश दिया जा रहा है जिसके चलते सब्जी उगाने वाले किसान सब्जी बेचने के लिए परेशान हैं और वह सडक़ किनारे रखकर कारोबार कर रहे हैं। शहर के कई स्थानों पर रात गहराते ही सब्जी मंडियां सज रही हैं और यहां खरीदारों की भीड़ रहती है। हम बात कर रहे हैं कटी घाटी स्थित शनिदेव मंदिर के पास की, यहां रात 2 बजे के बाद दूरदराज से आने वाले किसान सब्जी लेकर आ जाते हैं और अपना कारोबार शुरू कर देते हैं।

जिला प्रशासन द्वारा सब्जी के थोक विक्रेताओं के लिए 10 प्वाइंट बनाए गए हैं जिसमें गोरखी परिसर, थाटीपुर, आनंद नगर, दीनदयाल नगर, हजीरा इंटक मैदान, मेला परिसर, मुरार रामलीला मैदान शामिल हैं, लेकिन शहर में 5 से ज्यादा अवैध सब्जी मंडी रात गहराते ही सज रही हैं जिसमें कटी घाटी पर सबसे ज्यादा जाम की स्थिति बनी रहती है, गोल पहाडिय़ा अयोध्या नगरी के पास अवैध सब्जी का कारोबार मंडी लगाकर हो रहा है तो गिरवाई थाने के आगे सब्जी मंडी सज रही है। इसी तरह गुप्तेश्वर महादेव मंदिर के पास भी सब्जी मंडी सज रही है।

यहां भी लग रहा जाम

हाथ ठेला संचालकों को आदेशित किया गया है कि वह गली मोहल्ले में फल, सब्जी का कारोबार करें। सडक़ों पर आकर जाम न लगाएं और चलते फिरते सब्जी बेचें जिससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी हो सके लेकिन शहर के कई स्थानों पर हाथ ठेले वाले कतार लगाकर सब्जी बेच रहे हैं जिससे जाम की स्थिति बनी रहती है। यह ठेला संचालक पुलिस के आते ही दौड़ लगा देते हैं। शहर के गोरखी परिसर के बाहर, दर्जीओली, महाराज बाड़ा, शिंदे की छावनी, छप्पर वाला पुल कमल सिंह बाग जैसे कई क्षेत्र ऐसे हैं जहां जाम लगा रहता है।


27 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

कार की स्टीयरिंग बीच सेंटर में क्यों नहीं होती, साइड क्यों होती है
SC-ST के धनाढ्य लोगों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलना चाहिए: सुप्रीम कोर्ट 
ब्रेकिंग! भिड़े की बेटी सोनू का अफेयर टप्पू से नहीं गोली से चल रहा है! 
क्या LAPTOP को बिस्तर पर रखकर चलाने से वह जल्दी खराब हो जाता है, यहां पढ़िए
SR25 ASHA CONFECTIONARY की महंगी कार का तमाशा बन गया, उठक-बैठक लगानी पड़ी
ग्वालियर 10 मंजिला एमके सिटी में आग, लोग चौथी मंजिल से कूदे, बिल्डर गिरफ्तार, मामला दर्ज 
मध्य प्रदेश: कोरोना 2000 के पार, 145 नए पॉजिटिव, 100 से ज्यादा मौतें 
SLAP KINGS बना दुनिया का सबसे लोकप्रिय मोबाइल गेम, PUBG और Call Of Duty को पीछे छोड़ा
yesterday और tomorrow को हिंदी में 'कल' क्यों बोलते हैं, दो अलग-अलग शब्द क्यों नहीं 
मध्य प्रदेश के कई इलाकों में आंधी-बारिश, उमरिया में बिजली गिरी, 4 मरे 
ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तंज से SDM नाराज, पटवारी को सस्पेंड किया 
रेलवे स्टेशन और रेलवे जंक्शन में क्या अंतर है, एक स्टेशन कब जंक्शन बन जाता है 
भोपाल में नए 36 जमाती कोरोना पॉजिटिव, हज हाउस में क्वॉरेंटाइन थे 
श्योपुर में सुलग रही है किसान आंदोलन की चिंगारी, कमलनाथ ने आवाज उठाई 
नेत्रहीन पीड़िता ने आवाज सुनते ही रेप के आरोपी को पहचान लिया 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here