Loading...    
   


मध्यप्रदेश का मानसून गुजरात चला गया, यहां बिजली गिरी वहां बारिश होगी - MP WEATHER REPORT

भोपाल
। मध्य प्रदेश की सरकार, किसानों और नागरिकों के लिए चिंता बढ़ाने वाली खबर है। लंबे इंतजार के बाद पश्चिम बंगाल की खाड़ी से जो मानसून आया था वह हवा के साथ बहते हुए गुजरात चला गया। मध्यप्रदेश में बादलों ने केवल बिजली गिराई, 20 लोगों की जान ली और आगे बढ़ गए। फिलहाल गुजरात के आसमान पर है, वैज्ञानिकों का कहना है कि वहीं बरसेंगे। 

मौसम वैज्ञानिकों की योग्यता पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए बादल हवा हो गए

मौसम विभाग के सरकारी वैज्ञानिकों ने 11 जुलाई से मध्यप्रदेश में झमाझम बारिश की भविष्यवाणी की थी, लेकिन उनका अनुभव और योग्यता पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए बादल मध्य प्रदेश के आसमान से हवा हो गए। अब मौसम विभाग के विद्वान वैज्ञानिकों का कहना है कि एक कम दबाव का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी में दक्षिणी ओडिशा और उत्तरी आंध्रप्रदेश के तट पर बन गया है। इसके अलावा दो सिस्टम और बने हैं, जो मौसम को प्रभावित कर रहे हैं। वैज्ञानिक कुछ भी कह सकते हैं, उनकी सैलरी पर फर्क नहीं पड़ता परंतु खेतों में पड़े किसानों के बीजों पर फर्क पड़ता है। जिन किसानों ने बोनी कर ली थी उनकी फसल कैसी होगी कोई नहीं कह सकता। जिन्होंने अब तक सोयाबीन की बुवाई नहीं की है, वह शायद अब हिम्मत भी नहीं जुटा पाएंगे। 

मध्यप्रदेश में बादल रुके ही नहीं, संडे को क्रॉस करते हुए निकल गए

मौसम एक्सपर्ट डीपी दुबे ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में जिस सिस्टम से प्रदेश को भिगोने की संभावना बनी थी। वह काफी तेजी से मूव हुआ और गुजरात की ओर बढ़ गया। दो दिन पहले मानसून झारखंड के ऊपर था। रविवार को वह छत्तीसगढ़ और मप्र को क्रॉस करते हुए गुजरात की ओर बढ़ गया। यह तेजी से बढ़ने के साथ कमजोर भी हो गया है। पूरा सिस्टम अभी गुजरात में है।

मध्यप्रदेश के नदी-तालाबों से बने बादल पर ही उम्मीद

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि मानसून एक्टिव है लेकिन झमाझम बारिश कब होगी कह नहीं सकते। इस साल मौसम वैज्ञानिकों के कई पूर्वानुमान पूरी तरह से गलत साबित हुए हैं। अब केवल मध्यप्रदेश की नदियों एवं तालाबों के वाष्पीकरण से बने बादल पर ही उम्मीद टिकी हुई है। विशेषज्ञ ऐसे बादलों को 'लोकल सिस्टम' कहते हैं। परंतु रिकॉर्ड बताता है कि पिछले कई दशकों में मानवीय विकास के कारण लोकल सिस्टम काफी कमजोर हो गया है। 

13 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- मध्य प्रदेश में पंचायतों के कर्मचारी अधिकारी हड़ताल पर 
MP NEWS- CM शिवराज सिंह ने कहा: सरकारी खजाने में चवन्नी भी नहीं बची है
EMPLOYEE NEWS- रिटायरमेंट के दो वर्ष बाद बैंक, पेन्शनर से वसूली नही कर सकता
मध्य प्रदेश मानसून- गुड न्यूज़, हवाएं बादलों को उड़ा नहीं पाएंगी, 3 सिस्टम बने
MP NEWS- चयनित शिक्षक संघ द्वारा सीएम हाउस घेराव का ऐलान
BHOPAL NEWS- एमपी नगर में उड़ता भोपाल, पुलिस पहुंची तो सड़क पर दौड़ता भोपाल
SANTOSH VERMA IAS गिरफ्तार, जज के जाली साइन करने का आरोप
GWALIOR NEWS- 4 दिन पहले लापता हुई लड़की भोपाल में मिली, शाहरुख खान फरार हो गया
MPPSC NEWS- स्वास्थ्य विभाग में सहायक प्रबंधकों की भर्ती परीक्षा
टिकीटोरिया माता मंदिर- रानी लक्ष्मीबाई द्वारा स्थापित प्राचीन और चमत्कारी धर्मस्थल

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiकैसे पता करें TV-AC फ्रिज ने 1 महीने में कितनी यूनिट बिजली खर्च की 
GK in Hindiउपहार के लिफाफे में एक रुपया क्यों जोड़ा जाता है, लॉजिक क्या है
भारतीय संविधान का अनुच्छेद 44: परिभाषा एवं खास बातें 
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiभारत के किस रेलवे स्टेशन का नाम, सबसे बड़ा है, इसमें अंग्रेजी के कुल कितने अक्षर आते हैं 
GK in Hindiपानी डालने पर आग क्यों बुझ जाती है जबकि फार्मूला के हिसाब से भड़कना चाहिए
GK in Hindi मोर अपना घोंसला कहां बनाता है, पेड़ के ऊपर या किसी गुफा में 
GK in Hindiसड़क किनारे वृक्षों पर सफेद पेंट क्यों किया जाता है, वैज्ञानिक कारण 
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
GK in Hindiमुर्गा सूर्योदय से पहले बांग क्यों देता है, कभी लेट क्यों नहीं होता
GK IN HINDI- BIKE का इंजन CC में क्यों होता है, हॉर्स पावर में क्यों नहीं होता
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here